Home Bhajan पाणी भरबा दे रे कान्हा | Prakash Chand Gurjar | Lyrics

पाणी भरबा दे रे कान्हा | Prakash Chand Gurjar | Lyrics

पाणी भरबा दे रे कान्हा लेटेस्ट सांग 2020 में आवाज प्रकाश चन्द गुर्जर ने दी हैं। बाबूलाल सैनी द्वारा निर्देशित मारवाड़ी सॉन्ग अल्फ़ा म्यूजिक एण्ड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। गीत के निर्माता गोपाल सैनी व गीत के बोल बीरबल सिंह साईवाड ने तैयार किये हैं।

गीत में कान्हा जमुना के किनारे गुजरियो से छेड़कानी करता रहता हैं और मार्ग में चलती गुजरियो का मटका फोड़ देता हैं। कान्हा रस्ते में जाती गुजरी का हाथ पकड़ रहा हैं। गुजरी उसकी हरकतों से गुजरिया परेशान हो गई है। साथ ही उसे गुर्जर का डर भी सता रहा है।

Paani Bharba De Re Kanha Song Lyrics

पाणी भरबा दे रे कान्हा सॉन्ग लिरिक्स

कानुड़ा ने देख्या म्हारो दिल खुश हैं छे
कानुड़ा ने देख्या म्हारो दिल खुश हैं छे
पाणी भरबा दे रे कान्हा म्हाने मत हड़के
नथली के बीच नगीनों भळके
पाणी भरबा दे रे कान्हा म्हाने मत हड़के
नथली के बीच नगीनों भळके

छोटा सा टाबर ने घर में रोवतो छोड़्याई
छोटा सा टाबर ने घर में रोवतो छोड़्याई
म्हारी सासुजी लड़ेली जाणे बिजळी कड़के
नथली के बीच नगीनों भळके
पाणी भरबा दे रे कान्हा म्हाने मत हड़के
नथली के बीच नगीनों भळके

रोटी खाता बालमा ने बीच में छोड़्याई
रोटी खाता बालमा ने बीच में छोड़्याई
गुर्जर मारेलों जाता ही मेरी आँख फड़के
नथली के बीच नगीनों भळके
पाणी भरबा दे रे कान्हा म्हाने मत हड़के
नथली के बीच नगीनों भळके

बाड़ा में बँधी छे भैंस गाया ने छोड़्याई
बाड़ा में बँधी छे भैंस गाया ने छोड़्याई
म्हारा छोटा छोटा बाछड़ा पाणी ते रड़के
नथली के बीच नगीनों भळके
पाणी भरबा दे रे कान्हा म्हाने मत हड़के
नथली के बीच नगीनों भळके

बीरबल, प्रकाश कान्हों घणो मुस्कावे
बीरबल, प्रकाश कान्हों घणो मुस्कावे
बाजे अल्फ़ा म्यूजिक डीजे माळे छाती धड़के
नथली के बीच नगीनों भळके
पाणी भरबा दे रे कान्हा म्हाने मत हड़के
नथली के बीच नगीनों भळके

भारत सरकार का इरादा |
सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा ||

Advertisement