Home Bhajan बंक्या माँ के जगमग ज्योत जले | Mamta Rangili | Lyrics

बंक्या माँ के जगमग ज्योत जले | Mamta Rangili | Lyrics

ममता रंगीली की आवाज में बंक्या माँ के जगमग ज्योत जले सॉन्ग बंक्या माता रानी का राजस्थानी भजन हैं। इस गीत का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कंपोज किया व निर्देशन पावणा जी हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग श्री भैरवनाथ कैसेट्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। एल्बम गीत के निर्माता पिंटू गुर्जर हैं।

माता रानी के दरबार में हर साल लाखो आते व जाते हैं और माता रानी के चरणों में अपना शीश निवाते हैं। मैया के मंदिर हमेश जगमग ज्योत जलती हैं हैं और समय समय पर मैया भक्तो को पर्चा देती हैं। माता रानी की साँझ सवेरे की आरती में ढोल नगाड़े बजते हैं। पुत्र प्राप्ति के लिया बांझड़लिया मैया के दरबार में आती हैं और माता खुशियों से उनका दामन भर देती हैं।

Bankya Maa Ke Jagmag Jyot Jale Song Lyrics

बंक्या माई का चौक माही घाल्यो रे हिंडोलों
लक तो आवे रे लक जावे म्हारी माँ

मैया थारा मंदिरिया में जगमंग ज्योता जागे
भक्ता ने दर्शन दीजो ये म्हारी माँ

Advertisement

मैया थारा मंदिरिया में ढोल नगाड़ा बाजे
आरती री वेला बेगी आवो म्हारी माँ

हे रे म्हारा माता जी ऊपर माल बिराज्या
बांझड़ी ने पालना झूला जो म्हारी माँ

जोगणिया रा डूंगर ऊपर मोर मीठा बोल
कोयलड़ी तो शोर मचावे ये म्हारी माँ

चामुंडा रा मंदरिया में डीजे जोरा बाजे
भक्त घनेरा नाचे म्हारी माँ

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता है महा अभियान |
स्वछता मे दीजिए अपना योगदान ||