Home Folk बन्ना जयपुर जाइजो | Saleem Sekhawas | Lyrics

बन्ना जयपुर जाइजो | Saleem Sekhawas | Lyrics

सलीम सेखावास की आवाज नया राजस्थानी गीत बन्ना जयपुर जाइजो एम.म्यूजिक मीडिया एंटरटेनमेंट की तरफ से शानदार प्रस्तुति हैं। गीत का म्यूजिक एस.के ने कम्पोज किया हैं। इस का निर्देशन राजहंस जांगिड़ ने किया हैं।

बनड़ी अपने बन्ना से जयपुर वाली चुनरी मंगवा और उस पर तारो से मोर बनवा रही हैं। रसीला जोधपुर से अपनी बनड़ी के लिए मोबाइल फ़ोन लेकर आ रहा हैं और उससे दूर रहने पर मोबाइल पर बाते करेगा। दुधेली बनड़ी अपने हाथो में सोजत वाली मेंहदी लगा रही हैं और बनड़ी के हाथो में रची हुई मेहंदी बन्ना को अच्छी लग रही हैं।

Banna Jaipur Jaijo Song Lyrics

बन्ना जयपुर जाइजो उदयपुर जाइजो बनड़ी रे लहरियो ल्याइजो सा
बन्ना तारो वाली चूंदड़ ल्याइजो विपर मोर मँड़ाई जो सा
बन्ना जयपुर जाइजो उदयपुर जाइजो बनड़ी रे लहरियो ल्याजो सा

बन्ना जोधपुर जाइजो उदयपुर जाइजो बनड़ी रे फोन ल्याइजो सा
बन्ना एप्पल वालो फ़ोन ल्याइजो आमी सामी बात करेला सा
बन्ना जोधपुर जाइजो उदयपुर जाइजो बनड़ी रे फोन ल्याइजो सा

Advertisement

बन्ना सोजत जाइजो मेहंदी ल्याइजो बनड़ी रे हाथ रचाई जो सा
ई मेहंदी वाली कुपिया ल्याई जो प्यारा प्यारा फूल बनाई जो सा
बन्ना सोजत जाइजो मेहंदी ल्याइजो बनड़ी रे हाथ रचाई जो सा

बन्ना पाली ल्याइजो पिलो ल्याइजो बनड़ी रे जार ओढ़ाई जो सा
बन्ना ब्यावर जाइजो तीली पटी ल्याइजो बनड़ी रे लार खुवाई जो सा
बन्ना पाली ल्याइजो पिलो ल्याइजो बनड़ी रे जार ओढ़ाई जो सा

बन्ना गला में कंटी काना में टोपी नस नथड़ी रे नाट घलाईजो सा
बन्ना सोने वाली नथड़ी ल्याइजो जीण ने मोती लगाई जो सा
बन्ना गला में कंटी काना में टोपी नस नथड़ी रे नाट घलाईजो सा

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना |
स्वच्छता को होगा अपनाना ||