Home Bhajan बरस म्हारी काली बादली | Avinash Yogi | Lyrics

बरस म्हारी काली बादली | Avinash Yogi | Lyrics

राखी रंगीली और माहि जाट अभिनीत राजस्थानी गीत बरस म्हारी काली बादली में आवाज अविनाश योगी ने दी हैं ।राजस्थानी एल्बम के निर्माता कल्लू गुर्जर हैं। हरीश गहलोत निर्देशित गाना गोपाल म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। इस गाने का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कम्पोज किया हैं गीत के लेखक पवन पूनिया हैं।

काली बादली के बरसने पर तेजाजी हल लेकर खेत में जा रहे हैं। बारिश होने पर फसल के भंडारे भर जाते हैं। समय पर बरसात नहीं होने पर किसानो का दिल धक धक करता हैं। बादली बरसने पर सब हर्षित होते और घर घर खुशिया छा जाती हैं।

Baras Mhari Kali Badali Song Lyrics

ओर बरस म्हारी काली बादली
तेजो खेती करसी रे
तू बरसे जब बावे बाजरी
भंडारा भर जावेला
ओर बरस म्हारी काली बादली

अरे हालियो ले खेत में जावे
जाके करे बुहाई हो
संग साथी भी संग में जावे
टच कारा लगावे हो
राज़ी राज़ी होवे बुहाई
यू आनंद छाजावेला
ओर बरस म्हारी काली बादली

Advertisement

अरे उमड़ गुमड़ के बादल गरजे
मेओ जी घवरावे हो
गाज गाज तू नही बरसेलो
मैं मोड़ा हो जावेला
म्हाका मंन की समझ बादली
मैं भूखा मर जावेला
ओर बरस म्हारी काली बादली

धक धक दिल म्हारो धड़के
छूटे कापणी म्हारे हो
टेम सुहानी नही बरसेली
खेती किया होवेली
ओर बरस म्हारी काली बादली

तू बरस जद खेती होवे
सब तरसे हर्षेला हो
घर घर माही खुशिया छावे
टाबर टिबरा नहावेला
नदी नाला सब ये भर जावे
जीव जन्तु सब नहावेला
ओर बरस म्हारी काली बादली

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता है देश का महा अभियान |
स्वछता मे दीजिए अपना योगदान ||