Home Folk बीरा भात भरण ने आयो | Sukhdev Ramsnehi | Lyrics

बीरा भात भरण ने आयो | Sukhdev Ramsnehi | Lyrics

2018 का नया राजस्थानी मायरा गीत बीरा भात भरण ने आयो जिसमे आवाज सुखदेव रामस्नेही ने दी हैं। मारवाड़ी सॉन्ग एस.डी.आर म्यूजिक की तरफ से प्रस्तुत हुआ हैं। गीत का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कम्पोज किया हैं।

भाई अपनी प्यारी बहन के घर में शादी होने पर भात लेकर जा रही हैं और बहन अपने भाई का इंतजार कर रही हैं। भाई अपनी के लिए पचरंगी चुनर और जीजा के लिए लाल रंग को पगड़ी लेकर आया हैं। जिस प्रकार श्री कृष्ण ने नानी बाई का मायरा लेके थे उसकी प्रकार बहन अपने भाई को लेके आने के लिए बोल रही हैं।

Beera Bhaat Bharan Ne Aayo Song Lyrics

बीरा भात भरण ने आई रे म्हारे घर बेटी रो ब्याव
बीरा मायरो भरण ने आई रे म्हारे घर लाडली रो ब्याव
जाय लखिया चौधरी बाई लछिया रो भरियो भात
इसो मायरो ल्यायो म्हारा बीरा ऊबी जोऊ बाट रे

बीरा माता में मत ल्याई रे थारा बीरा रा पचरंग पार
बीरा हिवड़ा में हा सच ल्याई रे थारा जीजा रे लाल बन्ना
नानी बाई रे छप्पन करोड़ रो कृष्णा भरियो मायरो रे
इसो मायरो ल्यायो म्हारा बीरा ऊबी जोऊ बाट रे

Advertisement

बीरा हाथा में चुडलो ल्याई रे थारा जीजा रे हरियो रूमाल
बीरा चड़िया में कन्डोरो ल्याई रे थारा जीजा जी रे मोचड़ी लाल
हे उमड़ गुमड़ कर बरसो बीरा बरसो नी सवाया रे
इसो मायरो ल्यायो म्हारा बीरा ऊबी जोऊ बाट रे

बीरा पगल्या में पायल ल्याई रे थारा जीजा रे मोटर कार
बीरा रामदेवन सुखदेव ने साथै ल्याई रे म्हारा मायरा में लागे चार चाँद
हे उमड़ गुमड़ कर बरसो बीरा बरसो नी सवाया रे
इसो मायरो ल्यायो म्हारा बीरा ऊबी जोऊ बाट रे

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना |
स्वच्छता को होगा अपनाना ||