Home Folk भोजाई रो नखरो | Twinkal Vaishnav | Lyrics

भोजाई रो नखरो | Twinkal Vaishnav | Lyrics

नया राजस्थानी विवाह गीत भोजाई रो नखरो भारी पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की तरफ से शानदार प्रस्तुति हैं। गीत में आवाज ट्विंकल वैष्णव ने दी हैं। रवि फुलेरा और समीर चौहान ने गीत का म्यूजिक कम्पोज किया हैं। इस गीत के निर्माता मुकेश सुराणा व निर्माता सज्जन सिंह गहलोत हैं।

बन्ना सा की भाभी बड़ी ही नखरे वाली हैं। एक हाथ से कंगना पहन रही है और दूसरे हाथ से अपने माथे पर रखड़ी बांध रही हैं। बन्ना सा अपनी रूटी भाभी को मनाते अपने साथ में ले रहे हैं। लाडली बन्नी को भाभी सा नखरा भारी लग रहा हैं।

Bhojai Ro Nakhro Bhari Song Lyrics

बन्ना थोरी भाभीसा रो नखरो भारी
जद मोने बैरा लागे सा
और मनाऊ घडी मनाऊ
भाभी सा ने साथे ल्याईजो सा

अरे कोई रा गाड़ा गुड़ सु भरिया
कोई कोई दरिया काकोसा
और मनाऊ घडी मनाऊ
भाभी सा ने साथे ल्याईजो सा
बन्ना थोरी भाभीसा रो नखरो भारी
जद मोने बैरा लागे सा

Advertisement

एक पौर सु चुड़ल्या पहरे
दूजी पौर सु रखड़ी सा
और मनाऊ घडी मनाऊ
भाभी सा ने साथे ल्याईजो सा
बन्ना थोरी भाभीसा रो नखरो भारी
जद मोने बैरा लागे सा

बन्ना थोरी भाभीसा रो नखरो भारी
जद मोने बैरा लागे सा
और मनाऊ घडी मनाऊ
भाभी सा ने साथे ल्याईजो सा

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता अपनाओ |
देश को विकास के पथ पर लाओ ||