Home Folk भोळो अमलीडो | Punaram Tirdiya, Rakesh Tirdiya | Lyrics

भोळो अमलीडो | Punaram Tirdiya, Rakesh Tirdiya | Lyrics

पुनाराम तिरङिया और राकेश तिरङिया की आवाज में भोळो अमलीडो सॉन्ग शिव जी राजस्थानी भजन हैं। इस गीत का म्यूजिक जी.एन.जी म्यूजिक ने कंपोज किया व निर्देशक सज्जन सिंह गहलोत हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग पी.आर. जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। गीत के लेखक पुनाराम तिरङिया व निर्माता मुकेश सुराणा हैं।

भोले बाबा के भजन की महिमा में सुंदर और प्यारे नामो से पुकारे जाने वाले भोले नाथ जो अपने डमरू की तान से सभी भक्तो का मंन मोह लेते हैं। भक्तो की भीड़ का टोला शिव जी के जय जयकारे से गूँजती आवाज़ो में और उनकी भक्ति में भांग धतूरे का सेवन करके मस्ती में झूम उठे हैं।

Bholo Amlido Song Lyrics

रिद्धी ल्याजो रे गणेश सिद्धी शिव शंकर ने साथै ल्याईजो
नहीं नहीं रे भोळो अमलीडो

भांग घोटे रे भोलो भांगडली घोटे भांगडली सु चढ़गयो तांडव रे
नहीं नहीं रे भोळो अमलीडो

Advertisement

गांजो रे पीवे रे भोळो लहरा लेवे गांजा सु चढ़गयो तांडव रे
नहीं नहीं रे भोळो अमलीडो

भांग चढ़ी रे भोला भांगडली चढ़ी पूरा धधुरा ने खा गयो अमलीडो
नहीं नहीं रे भोळो अमलीडो

डम डम डमरू बाजे रे शिव जोरा नाचे भोलो डमरू पर तांडव कर रहियो रे
नहीं नहीं रे भोळो अमलीडो

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित हो राष्ट्र हो हमारा |
स्वच्छ हो देश हमारा ||