Home Folk देवरिया | Kaluram Bikharniya, Mangal Singh | Lyrics

देवरिया | Kaluram Bikharniya, Mangal Singh | Lyrics

अंशुमान आर.झा द्वारा निर्देशित गीत देवरियामें आवाज कालूराम बिखरनिया और मंगल सिंह ने दी हैं। गीत का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कम्पोज किया हैं।राजस्थानी एल्बम का गीत देव म्यूजिक की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। इस गीत गाने में गोरी और आशा प्रजापत का धमाकेदार डांस देखने को मिलेगा।

देवर फागण महीने में चंग बजा रहा हैं और भाभी अपने देवर के साथ लुल लुल के नाच रही हैं। कार्तिक महीने में भाभी अपने लाडले देवर से प्रीत लगा बैठी हैं। गौरी का पिया परदेश बसा हुआ हैं और फागण महीने में सजनी को अपने बालमा की याद सता रही हैं। भाभी अपने देवर को रंग गुलाल लगाते हुये उसके रंग में रंग गईं हैं।

Devariya Song Lyrics

अरे देवरिया फागण का महीना में चंगड़ो बाजे रे
अरे देवरिया घेरिया तो लुळ लुळ आछा नाचे रे
अरे देवरिया फागण का महीना में चंगड़ो बाजे रे
अरे देवरिया सासु डी म्हारी लुळ लुळ नाचे रे
अरे देवरिया आपा भी जोड़ा सु घूमर घाला रे
अरे देवरिया काती का महीना में करडावड करती रे
अरे देवरिया थासु प्रीत लागी रे लुळ लुळ नाचू रे
अरे देवरिया फागण का महीना में चंगड़ो बाजे रे
अरे देवरिया भाई जी परदेसा में बैठ्यो रे
अरे देवरिया मूंगा रे मोला को जोबन जावे रे
अरे देवरिया फागण का महीना में चंगड़ो बाजे रे
अरे देवरिया ऊँचा रे बजोटिया तने बैठादू रे
अरे देवरिया रंग गुलाला गाला घनी रंगाऊ रे
अरे देवरिया फागण का महीना में चंगड़ो बाजे रे
अरे देवरिया विजयनगर को दारुडो मैं मुलादु रे
अरे देवरिया मीठी मीठी पेगडली पीला दू रे

Advertisement

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||