Home Folk गांजा की चिलम | Sohan Singh, Rajan Sharma | Lyrics

गांजा की चिलम | Sohan Singh, Rajan Sharma | Lyrics

2018 का नया फागण गीत गांजा की चिलम जिसमे आवाज सोहन सिंह और राजन शर्मा ने दी हैं। बाबूलाल सैनी द्वारा निर्देशित गीत अल्फ़ा म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। गीत के निर्माता गोपाल सैनी हैं।

होली का अवसर आने पर पिया अपने घर आँगन में चिलम पकड़ी हुई हैं। गौरी पिया के हाथ में चिलम देखकर हैरान हो रही हैं और उसके छोड़ने के लिए बोल रही हैं। लेकिन पिया ऐसा नहीं कर रहा हैं और अपने संग के साथियो के साथ चिलम पी रहा हैं। इस बात से गौरी अपने पिया से नाराज हो रही हैं परन्तु होली के मौके पर पिया अपनी गौरी से मजाक कर रहा हैं।

Gaanja Ki Chilam Song Lyrics

गौरी भर गांजा की चिलम पीवा होली को अवसर आयो रे
मस्ती में होकर मस्ती खेलल्या रंग लियायो रे के फागण आयो रे

थे गांजो पीवो छोड़ बलम यो नशो मर्द ने खायो रे
होली को झूठो नाम करे रे थारो मन ललचायो रे की फागण आयो रे

Advertisement

सारी करती नशो नशा के माही जगत समायो रे
म्हारो रोजीना को नियम नहीं बस मुंड बणायो रे के फागण आयो रे

यो गांजो ऐसी चीज घणा का मुंड ठिकाणे ल्यायो रे
कई डोले पागल होर काळजी जीवन पर छायो रे की फागण आयो रे

गौरी मैं अतरो कमजोर नहीं क्यों थारो जीव दुःख पायो रे
यो तो भर गांजा की चिलम ले आयो नाथ्यो भायो रे के फागण आयो रे

थारा चाल चलन तो चोखा छै पण कैसे शौक लगायो रे
काई बुद्धि की हड़ताल चालरी मुंड पचायो रे की फागण आयो रे

मैं तो करियो मजाक गांजो अब तक नहीं बवरायो रे
तू मत होव नाराज लगाले रंग मन चाहयो रे के फागण आयो रे

प्रहलाद लिखे अल्फ़ा कैसेट में ताजा कड़ी बणायो रे
या राजन शर्मा संग गीत सोहन सिंह गायो रे की फागण आयो रे

अन्य राजस्थानी गाने :

भारत सरकार का इरादा |
सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा ||

चेतावनी: धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं।