Home Aartiyaan & Mantras वक्रतुण्ड महाकाय | Ganpati Mantra Shlok

वक्रतुण्ड महाकाय | Ganpati Mantra Shlok

किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले गणेश जी को याद किया जाता हैं और सर्वप्रथम पूजा की जाती हैं ऐसा माना जाता की इनको मनाये बिना सारे काम अधूरे माने गये हैं। तो किसी भी कार्य का शुभांरभ करने से पहले हमे गणेश जी याद करना चाहिए जिससे हमारा काम मंगलमय हो।

गणेश जी ब्रह्मांड में ओमकेश्वर के प्रकट स्वरूप हैं। उनका व्रकतुंड और महाकाय रूप इस तथ्य को प्रमाणित करता हैं। वेदो में कहा गया हैं जो सबकुछ दिखता हैं वो गणेश जी से उत्पन्न हुआ हैं। इसीलिए गणेश जी ही परमब्रह्म हैं।

Click to watch Ganpati Mantra Shlok NOW in full HD.

Advertisement

अन्य वीडियो भी देखे :

किसी भी शुभ कार्य के प्रारंभ में गणेश जी को इस मंत्र से प्रसन्न करे

|| श्री गणेश मंत्र: ||

वक्रतुण्ड़ महाकाय सूर्य कोटि समप्रभ।
निर्विघ्नं कुरू मे देव, सर्व कार्येषु सर्वदा।।

स्वच्छता का रखिए ध्यान |
स्वच्छता से देश बनेगा महान ||