Home Folk गुलाल | Rani Rangili, Kunwar Mahendra Singh | Lyrics

गुलाल | Rani Rangili, Kunwar Mahendra Singh | Lyrics

2017 का नया राजस्थानी फागण गीत गुलाल राणी कैसेट्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। गीत में आवाज राणी रंगीली और कुंवर महेंद्र सिंह ने दी हैं। राज स्टूडियो ने गीत का म्यूजिक कम्पोज किया हैं। इस गीत में राणी रंगीली और कुंवर महेंद्र सिंह एक साथ नजर आएंगे।

फागुन का महीना आने पर देवर छुप छुपके अपनी प्यारी भाभी के गोरे गोरे गालो पर रंग लगा रहा है और भाभी को बहुत लाज आ रही हैं। रसोई में खाना खाने के बहाने से आकर भाभी के रंग लगा रही हैं और जब भरने जाती तो देवर अपने दोस्तों के साथ हिलमिल लाल गुलाबी रंग लगा रहा हैं और भाभी की मीठी मीठी बोली देवर प्यारी लग रही हैं।

Gulal Song Lyrics

नेनो नेनो देवरियो यो गाला पे रंग लगावे ये
छाने छाने आवे यो तो छुपके छुपके आवे रे
लाल गुलाबी रंग म्हारे देवरियो लगावे रे
अर म्हाने लाज घणी आवे रे अर म्हारे रंगड़ो लगावे रे

आजा म्हारी भाभज रे गाला पर रंग लगाउ रे
फागण को महीनो आग्यो रे अर थारे रंगड़ो लगाउ रे
अर महीनो फागण वालो आग्यो रे

Advertisement

रसोइया में बैठी मैं तो रोटिया बनाऊ रे
जीमवा रे मुस देवर रसोइया में आवे रे
गौरा गौरा गाल म्हारे रंगड़ो लगावे रे
अर म्हारे रंगड़ो लगावे रे अर म्हाने लाज घणी आवे रे

फागण वालो त्यौहार भाभज होजा जल्दी तैयार भाभज
मत होवे नाराज भाभज अर थारे रंगड़ो लगाउ रे
अर मैं तो चंगड़ो बजाउ रे

ले घडला ने हाथा माही कुवो ऊपर चाली रे
कुवे ऊपर देवर म्हारो रंगड़ो ले आवे रे
सब साथीड़ा मिलकर म्हारे रंगड़ो लगावे रे
अर म्हारे रंगड़ो लगावे रे अर म्हाने लाज घणी आवे रे

भाभज थारा घुंघटा पर मीठा मोरिया बोले रे
नाका में नथबाली भाभज ये हंस हंस बोले रे
लाल गुलाबी रंग भाभज थारे मैं लगाउ रे
अर महीनो फागण वालो आग्यो रे

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित हो राष्ट्र हो हमारा |
स्वच्छ हो देश हमारा ||