Home Folk हाथ में सुपारी | Laxman Gurjar | Lyrics

हाथ में सुपारी | Laxman Gurjar | Lyrics

अल्ताफ हुसैन द्वारा निर्देशित मारवाड़ी डीजे सॉन्ग हाथ में सुपारी अरहान टेलीफिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं । लेटेस्ट सांग 2018 में आवाज लक्ष्मण गुर्जर ने दी हैं। सॉन्ग का म्यूजिक एस. के स्टूडियो ने कंपोज किया हैं व गीत के निर्माता दीपक खटाणा ने दी हैं।

बन्ने की शादी में बराती ढोल शहनाई पर धूम मचा रहे हैं और बनड़ा घोड़ी में पर बैठा मंद मंद मुस्करा रहा हैं। बन्ने की बारात में बूढ़े से लेकर छोटे बच्चे भी शामिल हैं और शादी मे स्वादिष्ट भोजन का आनंद ले रहे हैं। दुल्हन की भाभीया लुल लुलके डीजे पर नाच रहे हैं और बारात के स्वागत में बन्नी के घर आँगन खड़ी हुई हैं।

Hath Mein Supari Song Lyrics

अरे का कर दीनी आयो लाडा काई खायो घटको
हाथ में यो बारी रे हिंगोड़ा रो घटको

अरे भर सिटी को दुर्गो जी म्हाने नाथू जी को लडको
हाथ में यो बारी रे हिंगोड़ा रो घटको

Advertisement

अरे दुर्गा जी की शादी महीने डीजे ऊपर नाचेलो
चेतक जी प्रकाश जी थे लुळ लुळ नाचेलो
बुवाला का लाला दोन्यू लुळ लुळ नाचेलो

अरे बूढ़ा रे ठाडा जान्या ल्याया मांडा माही जिमण दो
लेर ने भोजाया सारी बनड़ा थोड़ा गावण दो
अरे तोरण पर आया बनड़ा सासु जी ने टिकन दो
साथ में सालिया यो रायभर नन्दोईया ने देखण दो

अरे मामा ने भी आया रायभर काई खायो घटको
हाथ में यो बारी रे हिंगोड़ा रो घटको
अरे दुर्गा जी की शादी महीने डीजे ऊपर नाचेलो

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||