Home Folk जानूडी उड़े थारो लहरियो | Nandan Rawat | Lyrics

जानूडी उड़े थारो लहरियो | Nandan Rawat | Lyrics

सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित मारवाड़ी सॉन्ग जानूडी उड़े थारो लहरियो पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। गीत में आवाज नंदन रावत ने दी हैं। सॉन्ग का म्यूजिक आर.वी स्टूडियो ने कंपोज किया हैं व गीत के बोल नंदन रावत ने तैयार किये हैं।

फागण में महीने ठंडी ठंडी हवा चली रही हैं और उससे गौरी का लहरिया हवा में उड़ रहा हैं। उसके नाक की नाकबाली को बहुत प्यारी लग रही हैं और पैरो में पायल पहने गौरी मतवाली चाल चल रही हैं। झीने झीने घूंघट में गौरी तिरछी नजर से देख रही हैं और उसके अच्छे अच्छो का दिल घायल कर रखा हैं।

Jaanudi Ude Tharo Lahriyo Song Lyrics

ठंडो चाले बायरो उड़े ने थारो लहरियो
सर र र र… उड़े रे जानू थारो लहरियो
नाका में नथड़ी प्यारी घणी लाग री
पायल थारा पैरा में छम छम बाज री
सर र र र… उड़े ये जानू थारो लहरियो

झीणा झीणा घुंघटा में तिरछी तिरछी देखे ये
डीजे ऊपर जानू म्हारी प्यारी घणी नाचे रे
सर र र र… उड़े ये जानू थारो लहरियो

Advertisement

घेरदार घाघरो घूमर खूब डाले रे
म्हारे संग जानू तू डीजे पे नाचे रे
सर र र र… उड़े ये जानू थारो लहरियो

फागण का महीना में पिया परदेशा सु आवो रे
होली वाली रात यारो धूम मचावो
सर र र र… उड़े ये जानू थारो लहरियो

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता है महा अभियान |
स्वछता मे दीजिए अपना योगदान ||