Home Bhajan जाटा रा भंवर म्हारा केसरया कंवर | Sohan Singh | Lyrics

जाटा रा भंवर म्हारा केसरया कंवर | Sohan Singh | Lyrics

वीर तेजाजी का नया राजस्थानी भजन जाटा रा भंवर म्हारा केसरया कंवर अल्फ़ा म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। इस गीत में आवाज सोहन सिंह ने दी हैं और गीत के बीरबल सिंह साईवाड ने लिखे हैं। बाबूलाल सैनी द्वारा निर्देशित गीत के निर्माता गोपाल सैनी हैं।

इस गीत में तेजाजी की महिमा का गुणगान किया हैं। सावन के महीने में बाबा का दरबार ढोल अलगोजो की आवाज से गूंज उठता हैं। हर साल लाखो यात्री के बाबा द्वार आते हैं और बाबा के दर्शन पाते हैं। तेजाजी का दरबार फूलो से सजा हुआ निराला लग रहा हैं और बाबा की बिंदोरी में भक्त लोग नाचते गाते हुए बाबा के द्वार पहुंचते हैं और दरबार में अल्गोजे और ढोल बज रहे हैं।

Jaata Ra Bhanwar Mhara Kesarya Kanwar Song Lyrics

म्हारा तेजा रे कंवर थारे डुले रे चंवर
म्हारा जाटा रा भंवर थारे डुले रे चंवर
जाटा रा भंवर वीर तेजा रे कंवर
म्हारा केसरया…..
म्हारा केसरया कंवर थारे डुले रे चंवर
म्हारा तेजा रे कंवर थारे डुले रे चंवर

(बेगो भर घुड़ला में आजे
ज़्यादा मतना देर लगा जे) x2
भालो हाथा में लियाजे थारी कर दीजे मेहर
म्हारा केसरया…..
म्हारा केसरया कंवर थारे डुले रे चंवर
म्हारा तेजा रे कंवर थारे डुले रे चंवर

Advertisement

सावन भादवो जद गाजे मीठा अल्गोजा भी बाजे x2
लीलन घोड़ी भी छम छम नाचे ढोल बाज रहियो जबर
म्हारा केसरया…..
म्हारा केसरया कंवर थारे डुले रे चंवर
म्हारा तेजा रे कंवर थारे डुले रे चंवर

जो भी पान लगयोड़ो आवे झाड़ो नीम को लगवावे x2
तेजो सारा रोग मिटावे पल में ढावे छै जहर
म्हारा केसरया…..
म्हारा केसरया कंवर थारे डुले रे चंवर
म्हारा तेजा रे कंवर थारे डुले रे चंवर

बंदौरी डीजे पे जद आवे सोहन बीरबल सिंह गावे x2
अल्फ़ा कैसेट्स धूम मचावे चारुमेर छै लेहर
म्हारा केसरया…..
म्हारा केसरया कंवर थारे डुले रे चंवर
म्हारा तेजा रे कंवर थारे डुले रे चंवर

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना |
स्वच्छता को होगा अपनाना ||