Home Folk जयपुर से चाली रे | Ramlal Gurjar | Lyrics

जयपुर से चाली रे | Ramlal Gurjar | Lyrics

कैलाश राव द्वारा निर्देशित गीत जयपुर से चाली रे में आवाज रामलाल गुर्जर ने दी हैं। यह एक भक्तिमय गीत जिसका म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कम्पोज किया हैं। राजस्थानी एल्बम का गीत वंशराज फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। इस गीत के निर्माता श्रीराम राव हैं।

राणक्या में बालाजी का मंदिर स्थित हैं और हर साल बाबा की यात्रा जयपुर राणक्या में जाती हैं। बाबा के चरणों में अपने आप को पाकर भक्त काफी खुश होते हैं और बाबा की यात्रा में भक्त नाचते हुए जाते हैं। नवरात्रो में भक्त जगह जगह पैदलयात्रियों के लिए भोजन की व्यवस्था करते हैं।

Jaipur Su Chali Re Song Lyrics

जयपुर से चाली रे भक्ता की टोळ्या रे
टोडा में नहागी रे राणक्या में आगी रे
बालाजी धोखो रे म्हारे ख़ुशी छागी रे
बालाजी धोखी रे चरणा में लागी रे
भक्ता की टोल्या रे राणक्या में आगी रे
बालाजी धोखो रे म्हारे ख़ुशी छागी रे

भीलवाडे मिलगी रे जानूडी मिलगी रे
राणक्या में धोखी रे बालाजी धोखो रे
भजना में नाची रे राणक्या में नाची
बालाजी धोखो रे म्हारे ख़ुशी छागी रे

Advertisement

टोडा में दिखी रे देव होटल दिखी रे
भक्ता की टोली रे देव पराठो खागी रे
घासी जी खिलावे रे गुर्जर को लडको रे
देव होटल खोली रे टोडा के माह्या रे

राम सिंह जी भी आवे रे संग सवाई आवे रे
भक्ता की टोळ्या रे राणक्या में आगी रे
म्हारे ख़ुशी छागी रे म्हारे मन में भागी रे
राणक्या में मिलगी रे भक्ता की टोळ्या रे
जानूडी नाची रे भजना में नाची रे

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||