Home Bhajan कान कँवर | Sohan Singh | Lyrics

कान कँवर | Sohan Singh | Lyrics

कान कँवर, जो एक लेटेस्ट राजस्थानी भजन हैं, अल्फ़ा म्यूजिक एंड फिल्म्स की नयी पेशकश हैं। राजस्थानी एल्बम गीत के लेखक बीरबल सिंह साईवाड और निर्देशक चाँद हैं। इस गाने में आवाज सोहन सिंह ने दी हैं।गीत के निर्माता बाबूलाल सैनी व गोपाल सैनी है। इस गीत में रेखा शेखावत व राज एक साथ नजर आएंगे।

योशोदा का लाल कन्हैया बड़ा ही नखरे वाला हैं और जब वो मुरली बजाता हैं तो गुजरिया छम छम नाचने लग जाती हैं। कन्हैया नंद बाबा का बड़ा लाडला हैं और गोकुल में गाय चराते हुए हमेशा उनके साथ रहता हैं। राधा गौरी मुरली वाले श्याम की दीवानी और उसके द्वारा बांसुरी बजाने पर दौड़ी-दौड़ी चली आती हैं।

Kaan Kanwar Song Lyrics

कान कंवरीयो घनो नखरालो x2

मीठी मीठी मुरली बजावे रे
गुज़रिया नाच रही छम छम x2
छम…

Advertisement

नंद बाबा को कुंवर लाड़लो x2

गोकुल में गाय चरावे रे
संग ग्वाल बाल हर दम x2
दम…

कृष्णा कन्हियो मुरली वालो x2

ब्रिज में रास रचावे रे
गोपियाँ ने आवे घनी शर्म x2
शर्म….

राधा गोरी श्याम की दीवानी x2

श्याम सू नैन मिलावे रे
गुज़रिया देख रही टम टम

नैन सू नैन मिलावे रे
गुज़रिया देख रही टम टम
तुम…

बीरबल सिंह सोहन सिंह गावे x2

कैसेट्स अल्फ़ा की बजावे रे
डीजे पर लाग रही दम दम x2
दम…

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता अपनाओ |
देश को विकास के पथ पर लाओ ||