Home Folk काजलियो बहलायी | Laxman Gurjar | Lyrics

काजलियो बहलायी | Laxman Gurjar | Lyrics

निशा सोनी और अल्ताफ हुसैन अभिनीत राजस्थानी गीत काजलियो बहलायी में आवाज लक्ष्मण गुर्जर ने दी हैं। राजस्थानी एल्बम के निर्माता दीपक खटाणा हैं। अल्ताफ हुसैन निर्देशित गाना पूजा म्यूजिक की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं । इस गाने का म्यूजिक एस.के स्टूडियो ने कम्पोज किया हैं।

गौरी में अपनी आँखों पर काजल डाला हैं लेकिन पिया को उसकी आँखों में से काजल दिखाई नहीं रहा हैं। अपने घर आँगन में काम के करने के दौरान के गौरी के पांव में चोट लग हैं और पानी भरने जाते गौरी ऊँचे एड़ी करके चल रही हैं। गांव के लडके गौरी की तरफ देखकर उसके इशारे कर रहे हैं और मजाक बना रहे हैं।

Kajaliyo Behlayi Song Lyrics

काजलियो भलाई काडो या तो भेला बहेगी रे
नाक री डांडीयु जिया डोडी ढलकी रे आयो बुढ़ापो
गोडाउ नीचा घिरिया दुखे रे आयो बुढ़ापो

भर सिटी रो दुर्गो जी मैंने ऊबो झाला देवे रे
नाथू जी रो लाडलो रूपालो लागे रे मिलवा जाउली
मैंने बालपणा री ओळ्यू आवे रे मिलवा जाउली

Advertisement

पटकी पानी ने चाली ऊँची राखे एड़िया
राते म्हारी बायली री रहेगी बेटिया हा झापो घाले तो
होली रा दिनड़ा ऐडा जावे रे झापो घाले तो

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता अपनाओ |
देश को विकास के पथ पर लाओ ||