Home Bhajan कालुगढ़ री माँ भवानी | Khushbu Kumbhat | Lyrics

कालुगढ़ री माँ भवानी | Khushbu Kumbhat | Lyrics

कालुगढ़ री माँ भवानी नया राजस्थानी भजन पी.आर.जी म्यूज़िक एंड फिल्म्स की नयी प्रस्तुति हैं। गीत में आवाज़ खुशबू कुंभट ने दी हैं। सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित गाने के प्यारे से बोल लाल सिंह राव ने लिखे हैं। इस गीत के संगीत निर्देशक मुकेश चौधरी हैं।

कालुगढ़ में माँ काली का मंदिर स्थित हैं। जिनके दुनियाभर से लाखो यात्री दर्शन के लिए आते हैं। माता के मंदिर में भैरु जी का मंदिर भी हैं। मातारानी के रोजाना जगमग ज्योत जलती हैं। सुबह-शाम माता की आरती ढोल नगाडो के साथ होती हैं।

Kalugadh Ri Maa Bhawani Song Lyrics

कालूगढ़ री माता काली x 2
माँ भगता री रखवाली रे
ध्यावे दुनिया सारी x 2

कालूखेड़ा माँ काली विराजे
चारों खूट माँ का डंका बाजे x 2
बठे पड़े परचा अति भारी रे
ध्यावे दुनिया सारी x 2

Advertisement

माता ने यासर भेरू जी छावे
शरणा घुँघरिया घमकावे x 2
काला भेरू जी अगवाली रे
ध्यावे दुनिया सारी x 2

जगमग निश दिन ज्योता जागे
दर्शन सू दुखड़ा सब भागे x 2
माँ तू मोटी चमत्कारी रे
ध्यावे दुनिया सारी x 2

भादू वंश का नी माँ ने मनावे
किशन सुनील राव लाली सिंह ध्यावे x 2
जठे खुशबू कुंभट जश गायी रे
ध्यावे दुनिया सारी x 2

कालूगढ़ री माता काली x 2
माँ भगता री रखवाली रे
ध्यावे दुनिया सारी x 2

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :