Home Bhajan खाटू में आवे पैदल यात्रा | Vinod Saini | Lyrics

खाटू में आवे पैदल यात्रा | Vinod Saini | Lyrics

लेटेस्ट डीजे मिक्स राजस्थानी भजन खाटू में आवे पैदल यात्रा में आवाज विनोद सैनी ने दी हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग अल्फ़ा म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं । गीत के निर्माता गोपाल सैनी व निर्देशक बाबूलाल सैनी हैं ।

फागुन की एकादशी को खाटू नगरी में बाबा की पैदल यात्रा जाती हैं और लाखो भक्त इसमें शामिल होते हैं बाबा जय जयकार करते हैं। हर साल श्याम भक्त बड़े उत्साह से गाजे-बाजे के साथ अपनी ही धुन में नाचते-गाते खाटू पहुंचकर बाबा के दर्शन पाते हैं और बाबा बाबा के चरणों में अपना शीश निवाते हैं। पदयात्रा का कस्बे में जगह – जगह फूल बरसा कर स्वागत किया जाता है।

Khatu Mein Aave Paidal Yatra Song Lyrics

ओ रे…हो… आवे छै आवे छै पैदल यात्रा खाटू नगरी में जोरा
खाटू नगरी में जोरा फागण की ग्यारस जोरा
आवे छै रे आवे छै रे हम्भे आवे छै रे आवे छै रे
आवे छै पैदल यात्रा खाटू नगरी में जोरा

ओ रे…हो…भक्ता की रे भक्ता रे ठोल्या आवे देखो खाटूनगरी जोरा
अरे खाटूनगरी जोरा फागण की ग्यारस जोरा आवे छै रे आवे छै रे
आवे छै पैदल यात्रा खाटू नगरी में जोरा

Advertisement

ओ रे…हो…भंडारा रे भंडारा रे भंडारा लागे जगह जगह खाटू नगरी में जोरा
अरे खाटूनगरी जोरा फागण की ग्यारस जोरा आवे छै रे आवे छै रे
आवे छै पैदल यात्रा खाटू नगरी में जोरा

ओ रे…हो… अल्फा की रे अल्फा की रे अल्फा बाजे गावे विनोद सैनी जोरा
ओ विनोद सैनी जोरा नाचे छोरी छोरा आवे छै रे आवे छै रे
आवे छै पैदल यात्रा खाटू नगरी में जोरा

अन्य राजस्थानी गाने :

भारत सरकार का इरादा |
सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा ||