Home Folk कुणसा चाँद पे जा बैठी | Sambhu Meena, Prabhu Mandariya | Lyrics

कुणसा चाँद पे जा बैठी | Sambhu Meena, Prabhu Mandariya | Lyrics

सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित राजस्थानी सॉन्ग कुणसा चाँद पे जा बैठी पी.आर.जी म्यूज़िक एंडफिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं । गाने में आवाज शम्भू मीणा और प्रभु मन्दारिया ने दी हैं । सॉन्ग का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कंपोज किया हैं।

जिसके बिना वो एक पल नहीं रह सकती थी आज उसे छोड़कर स्विफ्ट डिजायर, ऑडी कार में बैठ के घूमती हैं। टाइम देखके उसका इन्तजार करती नहीं आने पर उसकी याद में आंसू बहाती आज उसके फ़ोन नंबर को ब्लैकलिस्ट डाल दी। एक बार अपनी दिलबर की सोणी सूरत देखने के लिए तड़प रहा हैं।

Kunsa Chand Pe Ja Baithi Song Lyrics

आज कुणसा चाँद पे जा बैठी
जानू भूल गयी थारा यारा ने

ओ स्विफ्ट डिजायर ऑडी थारे बैठी डोले कारा में
आज कुणसा चाँद पे जा बैठी जानू भूल गयी थारा यारा ने

Advertisement

ओ टाइम देख तू म्हारी बाटा जोती
अरे नहीं मिलतो मैं थारा सु तो म्हारी याद में रोती
ओ ब्लैकलिस्ट में म्हारा नंबर डाल दिए तू सारा ने
आज कुणसा चाँद पे जा बैठी जानू भूल गयी थारा यारा ने

कदे तो मिलती म्हाने केकड़ी कदे शाहपुरा आती
ओ छाने छाने बाता करता दिल का हाल सुनाती
ओ खातिर जानू मेरी अब तक फिरू कुंवारा में
आज कुणसा चाँद पे जा बैठी जानू भूल गयी थारा यारा ने

ओ देवराज गुर्जर को दीवानो थारी बाटा जोवे
ओ देवकिशन गोपाल थारी यादा में नहीं सोवे
ओ बलमाराम गुर्जर तो तेरो मोच करे राता ने
आज कुणसा चाँद पे जा बैठी जानू भूल गयी थारा यारा ने

ओ सोणी सूरत दिखलाजा मुझको मतना तड़पा जानू
एक बर बोल मुझको आई लव यू मैं दिलबर तुझको मानू
यो मेवाड़ी की ताल पे शम्भू मीरा गावे यादा में
आज कुणसा चाँद पे जा बैठी जानू भूल गयी थारा यारा ने

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||