Home Folk कुंवे की पाल ऊपर | Ratanlal Swami | Lyrics

कुंवे की पाल ऊपर | Ratanlal Swami | Lyrics

रतनलाल स्वामी की आवाज़ में नया सुपरहिट राजस्थानी सॉन्ग कुंवे की पाल ऊपर जिसके बोल सावरिया बलम द्वारा लिखे गये। सज्जन सिंह गहलोत के निर्दशन में बने गीत के निर्माता मुकेश सुराणा हैं। समीर चौहान और सुगन बुचेती ने पी.आर.जी म्यूज़िक एंड फिल्म्स के नये सॉन्ग में म्यूज़िक कंपोज किया।

इस गाने की लोकेशन काफ़ी व सुंदर हैं जिसमे खेत खलिहान, बड़े पेड़ और कुवे के पास से चलते ट्युबेल की झलख दिखेगी। राजस्थानी वेशभूषा में सुनहरे रंग के आभूषण पहने हुए अदाकारा बड़ी सुंदर लग रही हैं।

Kuve Ki Pal Uper Song Lyrics

कुंवे की पाल ऊपर बायो जी भरुटयो
आते से जाता म्हारी लावन के लिपट गयो
कुंवे की पाल ऊपर बायो जी भरुटयो

घर म्हारो दूर दो घडलो म्हारो भारी
पतली कमर बल खावे ओ बालमिया
कुंवे की पाल ऊपर बायो जी भरुटयो

Advertisement

रात ने तो केहवे ढ़ोलो हार घड़ा दू
दिन में तो दे दियो जवाब ओ बालमिया
कुंवे की पाल ऊपर बायो जी भरुटयो

रात ने तो केहवे ढ़ोलो नथड़ी घड़ा दू
दिन में तो दे दियो जवाब ओ बालमिया
कुंवे की पाल ऊपर बायो जी भरुटयो

रात ने तो केहवे ढ़ोलो झुमका घड़ा दू
दिन में तो दे दियो जवाब ओ बालमिया
कुंवे की पाल ऊपर बायो जी भरुटयो

रतन स्वामी गानो जोर को मनायो
डीजे पर आपा दोनी नाचा रे बालमिया
कुंवे की पाल ऊपर बायो जी भरुटयो

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :