Home Folk लट लगवा दी | Saleem Sekhawas, Ramji Sedia | Lyrics

लट लगवा दी | Saleem Sekhawas, Ramji Sedia | Lyrics

अंशुमान आर. झा द्वारा निर्देशित गीत लट लगवा दी में आवाज सलीम शेखावास और राम जी सेदीआ ने दी हैं। गीत का म्यूजिक एस.के स्टूडियो ने कम्पोज किया हैं।। राजस्थानी एल्बम का गीत एम म्यूजिक मीडिया एंटेरनेमेट की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं।

गौरी की एक मुलाकात ने प्रेमी दिल चुरा लिया हैं। उसे अन्न पानी नहीं भा रहा हैं और पल पल उसकी याद सता रही हैं। प्रेमी से मीठी मीठी बात करके उसके दिल में आग लगा दी हैं और उससे मिलने के लिए प्रेमी का दिल हमेशा बेताब रहता हैं। डीजे पर छम छम करते हुए प्रेमी को भी अपने संग में नाचने को मजबूर कर दिया और उसकी कोमल काया चोटी नागिन की तरह बल खाती हैं।

Lat Lagava Di Song Lyrics

मैंने अन्न पानी नहीं भावे पल पल थारी याद सतावे
म्हारा दिल को छिन्यो चेन रात की नींद उड़ा दी रे
लट लगवा दी रे लट लगवा दी रे
थारा सु मिलण की लट लगवा दी रे

चिकणी चुपड़ी बाता कर म्हारे दिलड़ा में आगी
थारी गौरी सूरत म्हारे मनड़ा में या भागी
अरे बैरण होगी रे अरे बैरण होगी रे
इने काम की वाट लगा दी रे
थारा सु मिलण की लट लगवा दी रे

Advertisement

डीजे का ये लगा धमीड़ा छम छम करती आवे
कोमल काया रूप सुहानी नागिन सी लहरावे
मैंने संग नाचण की कहर म्हारी साँस फुलादी रे

मैंने अन्न पानी नहीं भावे पल पल थारी याद सतावे
म्हारा दिल को छिन्यो चेन रात की नींद उड़ा दी रे
लट लगवा दी रे लट लगवा दी रे
थारा सु मिलण की लट लगवा दी रे

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता है देश का महा अभियान |
स्वछता मे दीजिए अपना योगदान ||