Home Bhajan लीलण ने सिंगारे तेज़ल | Suresh Pareek | Lyrics

लीलण ने सिंगारे तेज़ल | Suresh Pareek | Lyrics

तेजाजी का नया राजस्थानी भजन लीलण ने सिंगारे तेज़ल जिसमे आवाज़ सुरेश पारीक ने दी हैं। सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित गीत के बोल सुरेश पारीक ने लिखे हैं। मेवाडी ब्रदर्स ने अपने म्यूज़िक से गाने को सजाया हैं।

यह तेजाजी का भक्तिमय सॉन्ग हैं। इस गाने का म्यूज़िक काफ़ी अच्छा व नया है। गाने का शूट रात के समय में किया गया। सभी कलाकारो ने अपनी भूमिका बेख़ूबी निभाई हैं। एक कलाकार अपने हाथ में सारंगी लिए हुए तो दूसरा उनका साथ निभा रहे हैं। अदाकारा पीले रंग की पोशाक पहने हुए नाच रही हैं। एक बड़े से पेड़ के नीचे सफेद घोड़ी बँधी हुई हैं।

Lilan Ne Singare Tejal Song Lyrics

तेजल चाल्यो सासरिये और लीलण ने सिणगारे हो
चालो म्हरी लीलन चाला सासरे
मोरुड़ा बोले हो जियो म्हारो डोले हो
मन कोनी लागे हो हिचकिया हाले हो
मन कोनी लागे पिया थारे बिना
जीऊ किन्या अकेली पिया थारे बिना

आता वालो बाँध पोतियो धोती छिनकादार हो
दिनडो उगाओ तेज़ल सासरे
लीलन बोले हो मीठी मीठी बोले हो
हंस हंस बोले हो की पेमल आवे हो
घडला पे घडलो ल्याउ जी पिया
कदे रे उड़िका कद आवेला पिया

Advertisement

तेज़ल उबी डागलीए और काला काग उड़ावे हो
अबके आवेला बेटो जाट को
पियो म्हारो आवे हो सखिया पिंघट पे
मने बतलावे हो की तेज़ल आवे हो
मन कोनी लागे पिया थारे बिना
जीऊ किन्या अकेली पिया थारे बिना

तेज़ल डीजे बाजे रे रामदेव जस गावे हो
सूर्यओ मनावे तेज़ल जाट ने
मोरुड़ा बोले हो जियो म्हारो डोले हो
मन कोनी लागे हो हिचकिया हाले हो
मन कोनी लागे पिया थारे बिना
जीऊ किन्या अकेली पिया थारे बिना

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :