Home Folk महीनो फागण रो | Ramchandra, Chetan Prajapat | Lyrics

महीनो फागण रो | Ramchandra, Chetan Prajapat | Lyrics

नया राजस्थानी फागुन गीत महीनो फागण रो एम म्यूजिक मीडिया एंटरटेनमेंट की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। रामचंद्र और चेतन प्रजापत ने गीत में आवाज दी हैं। सरवर खान अभिनीत गीत का निर्देशन अंशुमान आर. झा ने किया हैं। गीत का म्यूजिक जे.एम.डी स्टूडियो ने कम्पोज किया हैं।

फागन महीने में खेत में खड़ी जानूडी अपने आशिक को झाला देकर बुला रही हैं। फागन महीने में लोग चंग बजा रहे हैं और देवर भाभी दोनों साथ में नाच गा रहे हैं। चंग की ढमक ढमक पर पैर में पायल पहने हुए भाभी नाच रही हैं। मारवाड़ और मेवाड़ के बीच में चंग जोरदार का बज रहा हैं।

Mahino Fagan Ro Song Lyrics

खेत में ऊबोडी छोरी ऊंचो हाथ करियो रे
ऊंचो हाथ कर ने वा झालो दियो रे
के महीनो फागण को ओले ओले रे महीनो फागण को
फागण रो महीनो एलो जावे रे के महीनो फागण को

फागण रा महीना यो तो चंग घनेरा बाजे हो
ऐ देवर ने भोजाई ने देखो जोड़ा यु नाचो ये
के महीनो फागण को ओले ओले रे महीनो फागण को
फागण रो महीनो एलो जावे रे के महीनो फागण को

Advertisement

मारवाड़ मेवाड़ बीच में आछो चंगड़ो बाजे हो
ऐ भीलवाड़ा रे टेशन पे घेरा नाचे हो
के महीनो फागण को ओले ओले रे महीनो फागण को
फागण रो महीनो एलो जावे रे के महीनो फागण को

चंग धमीड़ा देखो ऐ ढमक ढमक बाजे हो
ऐ पंग में पायलड़ी बांध ने विष्णु नाचे हो
के महीनो फागण को ओले ओले रे महीनो फागण को
फागण रो महीनो एलो जावे रे के महीनो फागण को

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता का रखिए ध्यान |
स्वच्छता से देश बनेगा महान ||