Home Bhajan पगड़ी पलकादार | Op Choyal | Lyrics

पगड़ी पलकादार | Op Choyal | Lyrics

ओ.पी चोयल की आवाज में पगड़ी पलकादार सॉन्ग श्री तेजाजी महाराज का राजस्थानी भजन हैं। इस गीत का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कंपोज किया व गीत का निर्देशन पावणा जी ने किया हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग तेजल कैसेट्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। इस गीत में आशा प्रजापत और मुकेश अपनी अहम् भूमिका निभाई हैं।

पलकादार पगड़ी बांधे हुये तेजाजी लीलण पर बैठकर पेमला गौरी के गांव की ओर प्रस्थान कर रहे हैं। लीलण पे असवार तेजाजी बड़े ही फुटेरे लग रहे हैं। महल में बैठी हुई पेमल गौरी अपने पिया तेजाजी का इंतजार कर रही हैं। तेजाजी तो पेमल गौरी के आँखों को कौर हैं और तेज धुप होने पर भी तेजाजी रुक नहीं रहे है और आगे बढ़ते चले जा रहे हैं।

Pagadi Palakadar Song Lyrics

पगड़ी पलकादार चौधरी पगड़ी पलकादार
तेजो बैठ्यो लीलण पे सोणो लागतो रे

पेमल जोवे बाट तेजाजी पेमल जोवे बाट
शेर पनेरा सरपट बेगा बेगा जावजो जी

Advertisement

अकेली मत छोड़ तेजाजी अकेली मत छोड़
तेजा लिया रे लिया थारी परणी ने आज

काजलिया री कौर पेमल काजलिया री कौर
थाने अल्का पलका में वे तो राखती रे

पड़े कड़की की धूप तेजाजी पड़े कड़की की धूप
था झीणा घूंघट की छाया राखती रे

पगड़ी पलकादार चौधरी पगड़ी पलकादार
तेजो बैठ्यो लीलण पे सोणो लागतो रे

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता का रखिए ध्यान |
स्वच्छता से देश बनेगा महान ||