Home Bhajan पैदल पैदल चालो रे गौरी | Kailash Rajasthan | Lyrics

पैदल पैदल चालो रे गौरी | Kailash Rajasthan | Lyrics

सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित राजस्थानी भजन पैदल पैदल चालो रे गौरी पी.आर. जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं । लेटेस्ट सांग 2018 में आवाज कैलाश राजस्थानी ने दी हैं। सॉन्ग का म्यूजिक आर. डी ब्रदर्स ने कंपोज किया हैं व गीत के बोल प्रदीप बागरी ने तैयार किये हैं।

गौरी अपने पिया से साथ माता रानी के दर्शन करने लिए पैदल पैदल जा रही हैं। अपने हाथो में ध्वजा लिए हुये पैदल यात्रियों में सबसे आगे हैं और माता रानी की जय जयकार करते भक्तो के साथ आगे बढ़ रहे है। छोटे छोटे बच्चे भी माता के दर्शन के लिए उत्साहित हो रहे हैं। माता के मंदिर में हमेशा में जगमग ज्योति जलती रहती हैं और माता रानी सैदव अपने भक्तो का कर कल्याण करती हैं।

Paidal Paidal Chalo Re Gouri Song Lyrics

चारधाम को चाला ये गौरी देशनोक को मेलो आ गइयो
पैदल पैदल चालो गौरी माँ को बुलावो आ गयो

ले हाथ में ध्वजा इब थे चालो म्हारी गौरी
देश्नोक मंदिर माही ज़य-जयकार होरी
नर जावे नारी जावे कामना को जीव लगियो

Advertisement

चारधाम को चाला ये गौरी देशनोक को मेलो आ गइयो
पैदल पैदल चालो गौरी माँ को बुलावो आ गयो

छोटा-छोटा टाबरिया भी देश्नोक में जावे
करनी जी का दर्शन कर के हंसता दौड़िया आवे
खुशी को यो तो दिनडा आयो अजब को महीनो लागियो

चारधाम को चाला ये गौरी देशनोक को मेलो आ गइयो
पैदल पैदल चालो गौरी माँ को बुलावो आ गयो

करनी जी के मंदिर में थे नाचो जी नखराली
इन डीजे पर होश उड़ाओ लागो नी मतवाली
छम-छम करती पायल बाजे खुशी से मनडो छागइयो
चारधाम को चाला ये गौरी देशनोक को मेलो आ गइयो
पैदल पैदल चालो गौरी माँ को बुलावो आ गयो

करनी जी की ज्योत-ज्वाला लागे सब ने प्यारी
माता जी का दर्शन करने आवे दुनिया सारी

चारधाम को चाला ये गौरी देशनोक को मेलो आ गइयो
पैदल पैदल चालो गौरी माँ को बुलावो आ गयो

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना |
स्वच्छता को होगा अपनाना ||