Home Bhajan पिली पिली लुगड़ी | Raju Rebari | Lyrics

पिली पिली लुगड़ी | Raju Rebari | Lyrics

राजू रेबारी की आवाज में पिली पिली लुगड़ी सॉन्ग रामदेव जी का राजस्थानी भजन हैं। इस गीत का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कंपोज किया व निर्देशक अल्ताफ हुसैन हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग अरहान टेलीफिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं।

पिली लुगड़ी ओढ़के गौरी रूणिचा के मेले में जा रही हैं और वहाँ जाकर बाबा दर्शन करते हुए डीजे पर नाच रही हैं। गौरी के भक्तो के टोलो से साथ शामिल होकर बाबा का जयकार लगा रही हैं और भक्तो की जयकार जयकार से बाबा का दरबार गूंज उठा हैं। कमर कनकती हुये गौरी सोलहा शृंगार करके पिया के साथ मेले में घूम रही हैं।

Pili Pili Lungdi Song Lyrics

ओ घूमर खावे पिली लुगड़ी रूणिचा मेला में
रूणिचा मेला में रे रूणिचा मेला में
ओ घूमर खावे पिली लुगड़ी रूणिचा मेला में

पोखरणा की धरती माही बाजे डीजे ढोल
डीजे रा धमीड़ा लागे नाचे संगळा लोग
अरे डिस्को बणगी म्हारी बीनणी रूणिचा मेला में

Advertisement

अरे घेर घुमेर रो पहर घाँघरो तिरछी चाले चाल
फूलचिड़ी बनकर या करगी डीजे पर धमाल
ओ घूंघट खांचे पिली लुगड़ी धोरा धरती में

कद पायल पहर कनकती बाजुबंध लटकाली
झटका मारे या पिली लुगड़ी या सांगानेर के माही

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

स्वच्छता है देश का महा अभियान |
स्वछता मे दीजिए अपना योगदान ||