Home Folk पूनम री रात | Twinkal Viashnav | Lyrics

पूनम री रात | Twinkal Viashnav | Lyrics

ट्विंकल वैष्णव की आवाज में पूनम री रात सॉन्ग एक राजस्थानी विवाह गीत हैं। इस गीत का म्यूजिक काली व सुगन पी.आर.जी ने कंपोज किया व निर्देशक सज्जन सिंह गहलोत हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। एल्बम गीत के बोल पारम्परिक हैं।

पूनम की चांदनी रात में बनडी महल में अपने बनसा का इंतजार कर रही हैं और नवल बन्ना के लेट आने पर गौरी उनसे थोड़ी नाराजगी जता रही हैं। बन्ना अपनी रूठी हुई बन्नी को मनाते हुये उन्हें हाथो की चुडिया दे रहे हैं और उन्हें पहनकर गौरी महल में घूम रही हैं। बनड़ी का प्यारा सा मुखड़ा नवल बन्ना के मन को भा रह हैं और बन्नी अपनी बन्नी से बहुत प्रेम करते हैं।

Punam Ri Raat Song Lyrics

या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे
थारी नाजु हैं जोवे थारी बाट नवल बनसा आया रहीजो रे
या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे

या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे
थारी नाजु हैं जोवे थारी चुड़ला री बाट नवल बनसा आया रहीजो रे
या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे

Advertisement

या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे
थारी नाजु जोवे पडला री बाट नवल बनसा आया रहीजो रे
या तो पुर ने पूनम री हैं रात नवल बन्ना बेगा आया रहीजो रे

या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे
थारी नाजु हैं जोवे वरिया री बाट नवल बनसा आया रहीजो रे
या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे

या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे
थारी नाजु हैं जोवे थारी बाट नवल बनसा आया रहीजो रे
या तो पुर ने पूनम री हैं रात थे मोड़ा बेगा आया रहीजो रे

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता अपनाओ |
देश को विकास के पथ पर लाओ ||