Home Folk सोन चिड़ी | Anil Sain, Dolat Garwa, Tulsiram | Lyrics

सोन चिड़ी | Anil Sain, Dolat Garwa, Tulsiram | Lyrics

2018 का नया राजस्थानी गीत सोन चिड़ी जिसमे आवाज अनिल सैन, दौलत गरवा और तुलसीराम ने दी हैं। इस गीत म्यूजिक मिस्टर रेमो ने कम्पोज किया हैं। “देशी फागुन” राजस्थानी एल्बम का गीत जी.एन.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। इस गीत के निर्माता श्रीराम राव हैं।

गौरी का पिया परदेश में नौकरी करता है और उसे पिया की याद सता रही हैं। गौरी सोन चिड़ी से अपने पिया के आने का सुगन पूछ रही हैं। सरवर के किनारे गौरी अपने पिया का इंतजार करती रहती हैं और पिया रंग रंगीला फागुन ऐसे ही निकला जा रहा हैं। गौरी उसका बड़ा ही प्यारा लगता हैं और उसकी सूरत गौरी के मन में बसी हुई हैं।

Son Chidi Song Lyrics

उड़ उड़ ये म्हारी सोन चिड़ी
सुगन बता म्हारी सोन चिड़ी
पिया बसे परदेशा म्हारो
जीव हिलोला मारे म्हारो
कद आवेला बालम म्हारो
जीव री जड़ी सुगन बता म्हारी सोन चिड़ी

सरवरिया री तीर गौरी अकेली खड़ी
पिव जी थारी याद आवे घडी रे घडी
रंग रंगीलो फागण न्यारो मारवाड़ में लागे प्यारो
चंग रा धमीड़ लागे रात री घडी
सुगन बता म्हारी सोन चिड़ी

Advertisement

सावली सूरत लागे फूटरी घनी
बाटा थारी जोऊ पिया ऐकली खड़ी
गली गली में बहारे झाखू पिया आवण रो रस्तो ताकू
कागलियो उड़ाऊ पिया घडी रे घडी
सुगन बता म्हारी सोन चिड़ी

रात रा सपना सु म्हारी नींद उडी
हिचकी सतावे पिया घडी रे घडी

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता है महा अभियान |
स्वछता मे दीजिए अपना योगदान ||