Home Folk थाने देख जीवा | Twinkal Vaishnav | Lyrics

थाने देख जीवा | Twinkal Vaishnav | Lyrics

ट्विंकल वैष्णव की आवाज में थाने देख जीवा सा सॉन्ग राजस्थानी लोकगीत हैं। इस गीत का म्यूजिक समीर चौहान ने कंपोज किया व निर्देशक सज्जन सिंह गहलोत हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं।

बन्ना को देखे बैगर बन्नी का मन किसी भी काम नहीं लग रहा हैं और बन्ना की याद में वो काली हो गई हैं। पिया के परदेश चले जाने पर बन्नी अकेली हो गई हैं और एक पल भी वो सो नहीं पाती हैं। बन्ना को याद करते हुए बन्नी उसे पत्र लिख हैं और जल्द लौट आने लिए बोल रही हैं।

Thane Dekh Jiva Sa Song Lyrics

थाने देख देख मैं तो जीवा सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी
थारी ओलुडी कर काली पड़गी सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी

थाने देख बिन आँखड़लो नहीं भावे सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी
थारी ओलुडी हिवड़े में लगाउ सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी

Advertisement

थे तो परदेसा मत जावो सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी
थाने देख या नींदडली नहीं आवे सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी

थारी यादडली म्हारो जीवड़ो जलावे सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी
थाने लिख लिख कागदियो मैं भेजा सा
गौरी रा साहिबा जी बन्नी रा साहिबा जी

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

स्वच्छता का रखिए ध्यान |
स्वच्छता से देश बनेगा महान ||