Home Folk थारे जैसी छोरी बन्नी एक भी नहीं | Twinkal Vaishnav | Lyrics

थारे जैसी छोरी बन्नी एक भी नहीं | Twinkal Vaishnav | Lyrics

नया राजस्थानी डीजे रीमिक्स लोकगीत थारे जैसी छोरी बन्नी एक भी नहीं पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की तरफ से शानदार प्रस्तुति हैं। सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित गीत में ट्विंकल वैष्णव और अनिल एक साथ नजर आएंगे।

बन्ना अपनी बन्नी को तिरछी नजर से देख रहा हैं और बन्ना को अपनी बन्नी से अच्छी कोई और नहीं लगती हैं। नवल बन्नी अपने बन्ना की फोटो बार बार देख रही हैं और बन्ना अपनी बन्नी से मिलने के लिए तरस रहे हैं। रसीली बन्नी बन्ना का खड़ी खड़ी इंतजार कर रही हैं।

Thare Jaisi Chhori Banni Ek Bhi Nahi song Lyrics

काची काची बन्ना कोरी फुलड़ी पड़ी
म्हारी सामी एक बारी देखो तो सरी
एक बारी म्हारे सामी देखो तो सरी

थारे पहल्या देखी मैं छोरया घनी
थारी जेळी छोरी बन्नी एक भी नहीं

Advertisement

काची काची बन्ना कोरी फुलड़ी पड़ी
म्हारी सामी एक बारी देखो तो सरी
एक बारी म्हारे सामी देखो तो सरी

हाथा में बनासा म्हारे फूला री कड़ी
थारी फोटो देखु मैं घडी रे घडी रे

दिया में नवल बन्नी तेल जु बले
थासु मिलबा ने म्हारो काळजो बले

काची काची बन्ना कोरी फुलड़ी पड़ी
म्हारी सामी एक बारी देखो तो सरी
एक बारी म्हारे सामी देखो तो सरी

ईटी मैं मोलाई बन्ना हीरा सु जड़ी
जोऊ बाटा बन्ना थारी खड़ी रे खड़ी रे

थारी म्हारी निजरा हैं जबसु लड़ी
चैन नहीं आवे बन्नी

काची काची बन्ना कोरी फुलड़ी पड़ी
म्हारी सामी एक बारी देखो तो सरी
एक बारी म्हारे सामी देखो तो सरी

Video Thumbnail

DJ REMIX लोकगीत- थारे जैसी छोरी बन्नी एक भी नहीं | Ft. TWINKAL – ANIL | PRG

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता का रखिए ध्यान |
स्वच्छता से देश बनेगा महान ||