Home Folk उड़े म्हारो लहरियो | Jyoti Sain | Lyrics

उड़े म्हारो लहरियो | Jyoti Sain | Lyrics

नूतन गहलोत ने उड़े म्हारो लहरियो गीत में अहम् भूमिका निभाई हैं। इस गाने में आवाज ज्योति सैन ने दी हैं। राजस्थानी एल्बम गीत के निर्माताप्रदीप आड़वाणी और निर्देशक राजेश गोयल है। मारवाड़ी सांग का म्यूजिक मुकेश चौधरी ने कम्पोज किया हैं व गीत के बोल अशोक दाधीच ने लिखे हैं।

गौरी का सतरंगी लहरिया हवा में उड़े जा रहा हैं और घेरदार लहंगा घूमे जा रहा हैं। गौरी अपने पिया से पैरो को पायल, हाथो को चुडिया, गले के हार की मांग कर रही हैं तब वो पिया के साथ डीजे पर नाचेगी। सोजत मेहँदी गौरी अपने हाथो में लगा रही हैं और पिया के साथ नाचने का मन बना रही हैं। गौरी को पिया को बहुत ही प्यारी लगती हैं।

Ude Re Mharo Lahriyo Song Lyrics

उड़े सरे रे म्हारो सतरंगी यो ल़हेरियो
घूमे अरे रे म्हारो घेरदार घाघरो
(म्हारी छम्मक -छम्मक पायल मॅंगादे
ढोला डीजे पे नचादे )x2

रखड़ी घड़ा दे पिलो पाली रो मॅंगादे
सोजत वाली मेहंदी म्हारा हाथा में रचादे
(म्हारी रेशम वाली काँचली पे मोरुडा मंदवादे
ढोला दीजव पे नचादे )x2

Advertisement

डीजे माथे गानो कोई नयो सो लगादे x2
म्हारी साथे नाचन को तू मूंड़ बना दे x2
(नचला सारी रात ढोला मनडो मिलादे
ढोला डीजे पे नचादे)x2

थारे माथे साजन मैं तो मंन लूटायो x2
लाखा में तू एक रंगीलो म्हारे मंनडे भायो x2
ढोला ड्ज पे नाचाड़े

अन्य राजस्थानी गाने :

भारत सरकार का इरादा |
सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा ||