Home Bhajan मंदिर जीण को दिखादू ये| Ram Singh Gurjar | Lyrics

मंदिर जीण को दिखादू ये| Ram Singh Gurjar | Lyrics

बाबूलाल सैनी द्वारा निर्देशित राजस्थानी सॉन्ग मंदिर जीण को दिखादू ये अल्फ़ा म्यूजिक एण्ड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। लेटेस्ट सांग 2018 में आवाज रामसिंह गुर्जर ने दी हैं। सॉन्ग निर्माता गोपाल सैनी हैं व गीत के बोल विक्रम सिंह ने तैयार किये हैं।

जीण माता के दरबार में भक्तो की भीड़ लगी हैं और कतार में खड़े मैया की जय जयकार कर रहे हैं। मैया के दरबार में देश विदेश से लाखो यात्री आते हैं औरजीण माता के चरणों में अपना शीश झुकाते है। मातारानी की महिमा निराली हैं और भक्त मातारानी का गुणगान करते हैं। हर साल नवरात्री के अवसर पर माता रानी का मेला लगता हैं और रंगीले भक्त इसमें शामिल होते हैं।

Mandir Jeen Ko Dikhadu Ye Song Lyrics

मंदिर जीण को (दिखादू ये नखराली ये) x2
हर्षो बीरो तो भक्त बण्यो
भक्त बन्यो रे वा तो बीरो भक्त बन्यो

गोरया में स्थान भवन की शोभा अजब निराली
वा ढेर भक्त की सुनले अंबा खुद जगदम्बा काली
दर्शन माता का करवादू ये नखराली करवादू ये नखराली
मंदिर जीण को (दिखादू ये नखराली ये) x2
हर्षो बीरो तो भक्त बण्यो

Advertisement

जगह जगह पे सत्संग हेता भक्त करे भंडारो
ओ उँचा पर्वत काजल शिखरा या छ अलग नज़ारो
पैदल चाल तने ( घूमादूं ये नखराली) x2
हर्षो बीरो तो भक्त बनयो

मंदिर जीण को (दिखादू ये नखराली ये) x2
हर्षो बीरो तो भक्त बण्यो

पाप करणिया पापी ने उपर ते उतार भगा दे
ए धन की करादे बारिश माता जीपे निगाह ज़चा दे
सातो सोनलो (घड़ादूं ये नखराली) x2
हर्षो बीरो तो भक्त बनयो

मंदिर जीण को (दिखादू ये नखराली ये) x2
हर्षो बीरो तो भक्त बण्यो

नागल सोडा गाँव राम सिह खुद गावे छे मासी
विक्रम सिंह बैठयो छ वा छ पहाड़ी गाँव को वासी
गानो अल्फ़ा को सुनादूं ये नखराली )x2
हर्षो बीरो तो भक्त बनयो

मंदिर जीण को (दिखादू ये नखराली ये) x2
हर्षो बीरो तो भक्त बण्यो

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

स्वच्छता अपनाओ |
देश को विकास के पथ पर लाओ ||