Home Bhajan मोर मुकुट मुरली वाले ने | Sawar Mal saini | Lyrics

मोर मुकुट मुरली वाले ने | Sawar Mal saini | Lyrics

Click to watch Mor Mukut Murli Wale Ne Rajasthani video song from album Chetawani Bhajan NOW in full HD.

चेतावनी भजन एल्बम का गाना मोर मुकुट मुरली वाले ने रिलीज़ कर दिया गया है | सॉन्ग में आवाज सिंगर सांवर मल सैनी ने दी | Chetak Cassettes द्वारा रिलीज़ डिवोशनल भक्ति सॉन्ग है | मोर मुकुट मुरली वाले ने इस गाने का वीडियो काफी रोचक है |

Song: Mor Mukut Murli Wale Ne
Album: Chetawani Bhajan
Singer: Sawar Mal saini
Music Label: Chetak Cassettes

Mor Mukut Murli Wale Ne Song Lyrics

मोर मुकुट मुरली वाले ने जगत रचा दिया सारा
(मात पिता हैं जनम देनीया कर्म भाग सब न्यारा)x2
मोर मुकुट मुरली वाले…

Advertisement

हिरनी के बच्चा रे जन्मे हाथ पकड़ कर तन्‍ने देवे
(अजगर पॅडयो उजाड़ बीच में कीड़ी ने कण देवे)x2
इंद्र पंख गज़ आँत खावे और साथी ने मण देवे
(हंस को मोती देता प्रभु शेरा ने बन देवे)x2
देने वाला देता हैं सब सब लिख्या रे कर्म का पाया
मात पिता हैं जनम…

किसी के महला चार हैं सजनो नीचे तो बिस्तर लगा ऱयो
(किसी के स्त्रिया दो दो हैं कोई हाथ रसोई पका रया)x2
किसी के रोटी दस दूजे कोई छाछ माँगने जा रया
(किसी के बकरी एक बयावे हैं उसका कमर बसेरा)x2
दूजे का कोई कसूर नही हैं सब बंध्या रे कर्म का पाया
मात पिता हैं जनम…

अब चाँद के गाल चकोर चलेगो कोई चुग चुग पतंगा खावे
(मंमीरान को मिशरी भी वो टेम टेम की पावे)x2
श्याम चिड़ी जंगल में रहती नीत का शेर थकावे
(सूत्या शेर के मुख के अंदर से मास फाड़ कर ल्यावे)x2
सप्त दीप नौ खंड बीच में कितना जगत पसरया
मात पिता हैं जनम…

एक पिता के चार पुत्र हैं चारो की किस्मत न्यारी
(एक बणया रे हाकम जिसका हुकम चले सरकारी)x2
एक बणया हैं बाबाजी और एक बणया हैं भिखारी
(तरह तरह के फूल खिले हैं खुशबू न्यारी न्यारी)x2
मोजी राम कहे इस दुनिया में बंध्या रे कर्म का पाया
मात पिता हैं जनम…

क्या मोर मुकुट मुरली वाले ने गाना आपको पसंद आया ? इस तरह के और राजस्थानी गानो का आनंद लेने के लिए देखते रहिए Marwadisong.in |