Home Folk मोरुड़ा रे | Khusboo Kumbhat,Sameer Chouhan | Lyrics

मोरुड़ा रे | Khusboo Kumbhat,Sameer Chouhan | Lyrics

2017 का नया राजस्थानी विवाह गीत मोरुड़ा रे पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। खुशबू कुम्भट और समीर चौहान ने गाने में आवाज दी हैं। गीत का म्यूजिक समीर चौहान ने कम्पोज किया हैं। सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित गीत के निर्माता मुकेश सुराणा हैं।

सजनी अपने सैया ने प्रीत लगाली हैं और सैया उसे अकेला छोड़कर दूर देश जा रहे हैं। सजनी को अपने बालम की याद सता रही हैं और उसके बिना सजनी की दुनिया वीरान हैं। ढलती रात को मोर सजनी के घर आँगन में बोल रहा हैं जिससे सजनी की नींद उड़ गई हैं।

Moruda Re song Lyrics

प्रीत में प्रीत लगाके तू तू दूर देश मत जात
याद आवेला थाने म्हाने ना जाने म्हारो दमन फला जाये
अरे मोरुड़ा रे मोरुड़ा मोरुड़ा रे
मोरिया रे हा मोरिया रे

तू क्यों बोल्यो रे ढलती रात में…..
म्हारी उड़ गयी उड़ गयी आंख्या वाली नींद मोरिया
म्हारी उड़ गयी उड़ गयी नैना वाली नींद मोरिया
आछो बोल्यो रे ढलती रात्रो रो

Advertisement

थन रे पे राखू पिलो पोमचो पोमचो
म्हारे पोमचिया में आजा काई रे फूल मोरिया
आछो बोल्यो रे ढलती रात्रो रो

साजन मेरे साजन मेरे तू हैं कहा
तेरे बिना मेरी दुनिया है यह वीरान

म्हारे हिवड़े में बाह गई कटार रे
कद आवेला साजन करे गौरी बाट रे

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||