Home Bhajan रिमझिम रिमझिम बरसे ओ | Navratan Pareek | Lyrics

रिमझिम रिमझिम बरसे ओ | Navratan Pareek | Lyrics

रिमझिम रिमझिम बरसे ओ राजस्थानी गानो का एक ओर नया गाना जिसे नवरतन पारीक ने गाया हैं। समीर चौहान और सुगन बुचेती द्वारा गीत का म्यूज़िक कंपोज किया गया। सज्जन सिंह गहलोत के निर्देशन में बने वीडियो सॉन्ग के निर्माता मुकेश सुराणा हैं।

बारिश की तेज से बौछार से बचने के लिए घोड़े दौड़ रहे हैं। इस गाने की लोकेशन में चारो ओर हरियाली का वातावरण हैं। मोर अपने के पँखो को फैलाकर नृत्य में मगन-मस्त हो रहा हैं। अदाकार के गले में आसमानी रंग की चुन्नी और सिर पर पचरंगी साफा जॅंच रहा हैं। राजस्थानी पोशाक में नाचती हुई अदाकारा बहुत अच्छी लग रही हैं |

Rimjhim Rimjhim Barse O Song Lyrics

रिमझिम रिमझिम बरस ओ
धरती ऊपर पानी ओ
गाँव गाँव में इंद्र राजा
बरस्या ढाणी ढाणी ओ
रिमझिम रिमझिम बरस ओ
धरती ऊपर पानी ओ

ऊंटडली गाडी के ऊपर
जाट जाटनी जावे ओ
धोरा री धरती रे ऊपर
तेजा तेजा गावे ओ
रिमझिम रिमझिम बरस ओ
धरती ऊपर पानी ओ

Advertisement

छाजा ऊपर कोयलड़ी बोले ओ
मोर बगीचा नाचे ओ
फूल चुने कोई माली मालन
हंस हंसकर बतलावे ओ
रिमझिम रिमझिम बरस ओ
धरती ऊपर पानी ओ

गाँव गली में पड़ गया झूला
झूले सखी सहेलिया ओ
सावन में सासरियो भूली
खेले मायण आँगन ओ
रिमझिम रिमझिम बरस ओ
धरती ऊपर पानी ओ

डीजे की झंकार बाजे
नौरतन पारीक गावे ओ
सावरिया की चले लेखणी
सारी दुनिया नाचे ओ
रिमझिम रिमझिम बरस ओ
धरती ऊपर पानी ओ

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :