Home Folk छम्मक छल्लो | Nawal Banna Kulsa | Lyrics

छम्मक छल्लो | Nawal Banna Kulsa | Lyrics

सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित मारवाड़ी डीजे सॉन्ग छम्मक छल्लो पी.आर. जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। लेटेस्ट सांग 2018 में आवाज नवल बन्ना कुलसा ने दी हैं। सॉन्ग का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कंपोज किया हैं व गीत के बोल नवल बन्ना कुलसा ने तैयार किये हैं ।

बन ठन सोलहा शृंगार करके छम्मक छल्लो अपने तीखे तीखे नैणो से आशिको का दिल घायल कर रही हैं। जब भी गौरी घर से बाहर निकलती उसे देखकर आशिक सीटिया बजाते हैं और उसके पीछे लड़को को लाइन लग जाती हैं। उसके हुस्न के चर्चे बच्चो से लेकर बूढ़ो तक में चल रही हैं और सब उसे अपने दिल की रानी बनाने में लगे हुए हैं।

Chhammak Chhallo Song Lyrics

छम छम नाचे छम्मक छल्लो
गाँव गाँव में मच गयो हेलो
रूप-रूपाली छम्मक छल्लो
छम्मक छम्मक छम छम्मक छल्लो

जद घर सू निकले बाहर छोरा भी सीटिया मारे
या छम्मक करती चाले बूढ़ा की मूंछया हाले
बन-ठन कर या चाली म्हारी छम्मक छल्लो

Advertisement

जद खिड़की खोले डिरो दिलडो यो डोले
छोरा की काई बाता बूढ़ा भी लव यू बोले
एक हाथ सू मारे सिटी म्हारी छम्मक छल्लो

धीरे धीरे या चाले कमर ईकी या हाले
देख ईकी जवानी छोरा मन में मुस्कावे
या देखे सगला ने पर किनने भाव ना देवे
या म्हारी छम्मक छल्लो

जोबनियो झाला देवे म्हा सुर्यो ना जावे
आंख्या ने या बलकावे म्हारा अंग में आग लगावे
या म्हारी छम्मक छल्लो

छम छम नाचे छम्मक छल्लो
गाँव गाँव में मच गयो हेलो
रूप-रूपाली छम्मक छल्लो
छम्मक छम्मक छम छम्मक छल्लो

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता है देश का महा अभियान |
स्वछता मे दीजिए अपना योगदान ||