Home Folk घूँघट | Birbal Singh Saiwar | Lyrics

घूँघट | Birbal Singh Saiwar | Lyrics

बीरबल सिंह सांईवाड़ की आवाज में घूँघट सॉन्ग राजस्थानी रोमांटिक सॉन्ग हैं। इस गीत के निर्माता बबूलालाल सैनी व गोपाल सैनी और गीत का निर्देशन डायरेक्टर चाँद ने किया हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग अल्फ़ा म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। एल्बम गीत के लेखक प्रहलाद मीणा और बीरबल सिंह हैं।

घूँघट सॉन्ग में सजनी सज धज कर तैयार, लेकिन साजन से शर्मा रही हैं। घूँघट करके काला लहंगा पहनकर गौरी बल खाते हुए अपने पिया से बार बार शर्मा रही हैं और वही पिया को घूँघट में गौरी के गोरे गोरे दिखाई दे रहे हैं। गौरी के नैन नशीले, होठ रसीले और उसकी मतवाली चाल का पिया दीवाना हैं वही गौरी को भी पिया की मीठी मीठी बोली बहुत प्यारी लगती हैं।

Ghunghat Song

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

Advertisement

स्वच्छता अपनाओ |
देश को विकास के पथ पर लाओ ||