Home Folk गोरा मुखड़ा | Prahlad Meena, Rajan Sharma | Lyrics

गोरा मुखड़ा | Prahlad Meena, Rajan Sharma | Lyrics

गोरा मुखड़ा जो एक लेटेस्ट होली सॉन्ग हैं, अल्फ़ा म्यूजिक एण्ड फिल्म्स की नयी पेशकश हैं। राजस्थानी एल्बम गीत के लेखक प्रहलाद मीणा और निर्देशक बाबूलाल सैनी हैं। इस गाने में आवाजप्रहलाद सैनी व राजन शर्मा ने दी हैं। जबकि गाने के निर्माता गोपाल सैनी हैं।

होली का त्यौहार आने पर देवर अपनी भाभी के गोरे गोरे गालो पर रंग गुलाल लगाने की कोशिश कर रहा हैं वही गौरी अपने पति और ससुर के डर से रंगीले देवर के साथ होली नहीं खेल रही हैं। देवर भाभी के बीच नौकझोक चल रही हैं और देवर अपनी भाभी को भांग ठंडाई पीला रहा हैं और ना ना करती हुई भाभी अपने देवर के रंग में रंग ही जाती हैं।

Gora Mukhda Song Lyrics

गोरा मुखड़ा को घूँघट भाभी
रूप घनो मंन भायो रे x2
ले आजा होली खेला
भर पिचकारी ल्यायो रे
रंगीला फाग़न में x2

चौबारे बैठयो सुसरो जी
पौली में थाको भायो रे x2
चौड़ा में आजा देवर
रंग लगा मंन चाहयो रे
रंगीला फाग़न में
छोड़ा में आजा देवर
रंग लगा मंन चाहयो रे
के फाग़न आयो रे

Advertisement

नखराली भाभी या थारो
जीवडलो क्यूँ घबरायो रे x2
तू पीले ने भर पेट
भांग ठंडाइ घुटायो रे
के फाग़न आयो रे x2

थारी ठंडाइ सू देवर
म्हाने तेज तीवलो आयो रे x2
जाने मस्ती सी चढ़ रही
लाल जी काई पीलायो रे
रंगीला फाग़न में
जाने मस्ती सी चढ़ रही
लाल जी काई पीलायो रे
के फाग़न आयो रे

होली का रंग सू भाभी
थारो रूप घनो निखरायो रे x2
थारा नखरा पे मर जायू
ताने फ़ुर्सत में बनायो रे
के फाग़न आयो रे x2

रंग रंगीला देवरिया
थारो रंग चिट में छायो रे x2
म्हारो रोम रोम खिल उठयो रे
देवर जद रंग लगायो रे
रंगीला फाग़न में
म्हारो रोम रोम खिल उठयो रे
देवर जद रंग लगायो रे
के फाग़न आयो रे

थारो म्हारो हेत भाभी
हिवाड़ा माही समायो रे x2
कोइ झीनी उड़ी गुलाल
होली को मजो उठायो रे
के फाग़न आयो रे जे2

भर भर में आवे होली
लाल जी मंडो यू ललचायो रे x2
अल्फ़ा कैसेट्स में राजन
और प्रहलाद गायो रे
रंगीला फाग़न में
अल्फ़ा कैसेट्स में राजन
और प्रहलाद गायो रे
के फाग़न आयो रे

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

स्वच्छता का रखिए ध्यान |
स्वच्छता से देश बनेगा महान ||