Home Folk मिसकॉल | Ganchiram Bhati | Lyrics

मिसकॉल | Ganchiram Bhati | Lyrics

2018 का नया राजस्थानी बन्ना – बन्नी गीत मिसकॉल में आवाज गंचीराम भाटी ने दी हैं। गीत का म्यूजिक अजय राजस्थानी और सुनील दाधीच ने कम्पोज किया हैं। पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत गीत के निर्माता मुकेश सुराणा हैं।

बन्नी अपने नवल बन्ना से मिलने के लिए मिसकॉल कर रही हैं। और नवल बन्ना अपनी प्यारी बन्नी से हंस हंस कर मोबाइल कर बात कर रहा हैं। बन्नी मोबाइल पर बात करते हुए बन्ना को तड़पा रही हैं और नवल बन्ना अपनी बनड़ी का दीवाना हैं।

Misscall Song Lyrics

मार मत मिसकॉल बनड़ी हंसकर मुंडे बोल
के झटपट आजा ये नखराली बनड़ी मार मती मिसकॉल

रंग रंगीला फूल बाग़ में खिल्या चारुओर बनड़ी खिल्या चारुओर
क्यों तडपावे बालक बनड़ी बांध प्रीत की डोर
के झटपट आजा ये नखराली बनड़ी मार मती मिसकॉल

Advertisement

कामनगारो जोबन थारो खूब जतावे जोर
धीरज छुट्यो जावे जग में देखू मैं थारी और
के झटपट आजा ये नखराली बनड़ी मार मती मिसकॉल

कोयल गीत सुनावे मन में मीठा बोले मोर बनड़ी मीठा बोले मोर
मैं हू थारो प्रेम दीवानो तू म्हारी गिणगौर
के झटपट आजा ये नखराली बनड़ी मार मती मिसकॉल

थारो प्रेम लागे बनड़ी जु झाड़ी जु बोल
बहार लागी प्रेम की और भीतर पड़ी कठोर
के झटपट आजा ये नखराली बनड़ी मार मती मिसकॉल

https://www.youtube.com/watch?v=08ONQlOCTW0

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||