Home Bhajan तेजल बीजे बाजरो | Anil Sen, Daulat, Tulsiram Sen | Lyrics

तेजल बीजे बाजरो | Anil Sen, Daulat, Tulsiram Sen | Lyrics

लेटेस्ट डीजे मिक्स भजन तेजल बीजे बाजरो में आवाज अनिल सैन, दौलत और तुलसीराम सैन ने दी हैं व गाने का म्यूजिक मुकेश चौधरी ने कंपोज किया हैं। राजस्थानी एल्बम हिट्स का सॉन्ग पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। गीत के निर्माता व निर्देशक सज्जन सिंह गहलोत हैं।

धरती पर तेज बारिश होने पर किसानो का मन ख़ुशी से झूम रहा हैं और तेजल हल लेकर अपने खेतो की ओर प्रस्थान कर रहे हैं। सफेद धोती अंगर और सिर पर पचरंगी पगड़ी बांधे हुये फुटरे लग रहे हैं। अपने संग के साथियो के साथ जाकर तेजल अपनी झोली में बीज लेकर धरती को प्रणाम करते हुए गणपत जी का शुभ नाम लेकर खेतो में बीज बो रहे हैं। अच्छी वर्षा होने से गांव के तालाब भर गए हैं और वन के मोर ख़ुशी से झूम रहे हैं।

Tejal Bije Bajro Song Lyrics

गाजे गाजे रे बादलियो जोर को
तेजल बीजे बाजरो पोर को

तेजल शूरो चाल्यो खेता में
सुगन मनावे प्रभाता में
हाथ माही हळियो लीनो जोर को
तेजल बीजे बाजरो पोर को

Advertisement

गाजे गाजे रे बादलियो जोर को
तेजल बीजे बाजरो पोर को

धोली धोती और अंगर की
बाँधी पगड़ी तेज पचरंगी
मूंछ ने मरोड़े तेजल बेटो जाट को
तेजल बीजे बाजरो पोर को

गाजे गाजे रे बादलियो जोर को
तेजल बीजे बाजरो पोर को

खेता माही हळियो चलावे
बेटो जाट को अन्न निपजावे
मुंग मोठ बिजे हैं ज्वार को
तेजल बीजे बाजरो पोर को

गाजे गाजे रे बादलियो जोर को
तेजल बीजे बाजरो पोर को

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||