Home Folk थे म्हारा साहिबा मैं थारी गोरी – विजय, हीना

थे म्हारा साहिबा मैं थारी गोरी – विजय, हीना

साजन और सजनी का प्यारा और सबको रास आने वाला नया गीत “थे म्हारा साहिबा मैं थारी गोरी” जिसमे कोयल रूपी सजनी अपने मंन का हाल अपने सुवटिये रूपी साजन को सुना रही हैं। जिसे विजय कुमार, हीना सेन ने अपनी मधुर और सबको रास आने वाली आवाज़ में गाया हैं। जिसके प्यारे प्यारे बोल सुनते एक अलग ही खुशी होती हैं ज्योति वाशुदेव सिंह ने इस गीत के बोल लिखे हैं । “था संग प्रीत लगाई” एल्बम के इस गीत को देखिये MarwadiSong.in पर ।

साजन और सजनी के प्यार भरे जीवन में एक दुसरे का हर खुशी हर गम साथ-साथ बिताते हैं। जब-जब साजन अपनी सजनीयो से परदेश जाने के लिए कहे तो सजनीयो का दिल धड़कने और नैन पलक भर आते हैं। सजनी अपने साजन का परदेश से आने की बाट निहारती हुई अपने साजन की याद में कहती हैं “थे म्हारा साहिबा मैं थारी गोरडी” ।
Also Watch: Mharo Sahibo Rusyo Jaye

Thai Mhara Saheba Mein Thari Gori Lyrics

Advertisement

थे म्हारा साहिबा मैं थारी कोयलडी x2
थे म्हारी गोरडी मैं थारो सुवटियो x2

रात चाँदनी और पूरबाई दोणू आग लगावे हैं
उपर सू या राम जुदाई नागन सी ढस जावे हैं
चाँद चकोरी प्रीत री डोरी क्यू म्हासु छुपावे हैं
थाने भी प्रेम पपियो तारी रन जगावे हैं
थे म्हारा साहिबा मैं थारी कोयलडी
थे म्हारी गोरडी मैं थारो सुवटियो

Advertisement

जद जद ज़ावन की बोल थे सूखा घाव भर आवे हैं
पायल छनके चूड़ी खनके नथ म्हारी घवराव हैं
छाती धड़के जीवरो तरपे नैन पलक भर आवे हैं
मत जाओ परदेश बलम जी म्हाने ओलू आवे हैं
थे म्हारी गोरडी मैं थारो सुवटीयो
थे म्हारा साहिबा मैं थारी कोयलडी
Source: Song

There are some errors in the lyrics by the chance, so you can intimate us if you find any error in the lyrical part.

Song: Thai Mhara Saheba Mai Thari Gori
Album: Tha Sang Prit Lagai
Singer: Vijay Kumar, Heena Sen
Writer: Jyoti Vashudev Singh

साजन और सजनी के पवित्र रिश्ते के और भी प्यारे प्यारे प्यारे मंन को लुभाने वाले गीत Marwadisong.in पर जिन्हे देखकर आप आनंदित नही अति आनंदित हो जाएगे|