Home Folk बागा में कोयल कुके – Baga Mein Koyal Kuke

बागा में कोयल कुके – Baga Mein Koyal Kuke

रिचपाल धालीवाल की मधुर आवाज़ वे उनके नये अंदाज के साथ राजस्थान के सबसे प्यारे नये एल्बम पतली कमर में से आपके मनोरंजन के लिए एक मीठा और प्यारा सा गीत “बागा में कोयल कुके” जिसके प्यारे बोल सुनते ही आप आनदित हो जाएगे जिसे मंन को लुभाने वाले प्यारे प्यारे बोल लिखने वाले गीतकार कृष्ण दायमा ने बोल लिखे।

सावन का महीना आते ही चारो ओर हरियाली छाते हि कोयल अपनी प्यारी कोमल सी आवाज़ से सबके मंन में प्रीत जगाती हैं सजनी अपने साजन से मिलने छम छम की चाल से अपने साज़नो के साथ लूल लुल घूमर घाल अपने साजन के रंग में रंग जाती हैं|
Also Watch: Ladli Luma Jhuma Re by Rani Rangili

Baga Mein Koyal Kuke Song Lyrics

(बागा में कोयल कुके रे
म्हारे हिवडे उठे हिलोर )x2
मनन्डा में प्रीत ज़गावे रे
या काली घटा ग़णगौर x2

(मैं छम छम करती चालू
सुन कोयल री कुकोर) x2
या काली कौती दिखे रे
बन बोली सू हीट चोर
बागा में कोयल कुके रे…..

Advertisement

(मैं लुल लुल घूमर घालु
सुन पिहु पिहु रो शोर) x2
यो मंन बसियो मंनभावन
चढ़ देख बोलो मंदोर
बागा में कोयल कुके रे…..

वो दर सरकारी रो सुन

ऋषिपाल के सागे नाचे
म्हारो रेमो भाई कपजोड़
बागा में कोयल कुके रे…..
Source: Song

There are some errors in the lyrics by the chance, so you can intimate us if you find any error in the lyrical part.

Baga-Mein-Koyal-Kuke
Song: Baga Mein Koyal Kuke
Singer: Richpal Dhaliwal
Album: Patli Kamar
Lyrics: Krishan Dayma
Music Label: PRG Music and Films Studio

सावन के गीत तो सभी को पसंदीदा होते हैं, तो आबके सावन के गीतो का सबसा ज़्यादा कलेक्शन मिलेगा Marwadisong.in पर जिन्हें देखकर आप और भीं आनंदित हो जाएगे ।