Home Bhajan गौरी खाटू का मेला के माही डटगी | Kaluram Yogi | Lyrics

गौरी खाटू का मेला के माही डटगी | Kaluram Yogi | Lyrics

रेखा शेखावत व राज ने गौरी खाटू का मेला के माही डटगी गीत में अहम् भूमिका निभाई हैं। इस गाने में आवाज कालूराम योगी ने दी हैं। राजस्थानी एल्बम गीत के निर्माता बाबूलाल सैनी और निर्देशक गोपाल सैनी है। मारवाड़ी सांग अल्फ़ा म्यूजिक एण्ड फिल्म्सकी नयी प्रस्तुति हैं।

गौरी अपने पिया के साथ खाटूश्याम जी के मेले में जा रही हैं और बाबा के चरणों अपना शीश निवा रही हैं। मार्ग में जगह जगह भंडारे लगे हुए और बड़े चाव से बाबा के भक्त प्रसादी खा रहे हैं। देसी घी का दीपक लेकर गौरी बाबा के द्वार जा रही हैं और दोनों हाथ जोड़कर बाबा से अर्ज कर रही हैं।

Gori Khatu Ka Mela Mein Datgi Song Lyrics

गोरी खाटू का मेला के माही डटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी x2
डटगी.. रात डटगी
हा ये रात डटगी..
गोरी खाटू का मेला के माही डटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी

देसी घी को दिवलो जोई सात लगाई फेरी
हाथ जोड़ कर बोली बाबा झोली भरदो मेरी x2
नवे महीने बेटो दीन्यो नही लगाई देरी
लाडू गोंद रे लाडू गोंद पंजिरी सारी बटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी
गोरी खाटू का मेला के माही डटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी

Advertisement

खाटू माही खाटो खागी और चना की रोटी
देसी घी की बाटी खाई होगी वा तो मोटी x2
बाबा की वभूति रगडी घनी चौक में लॉटी
विकी काया की विकी काया की बीमारी सारी हटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी
गोरी खाटू का मेला के माही डटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी

श्याम भजन करवाई आगी सखी सहेल्या साथ
अल्फ़ा कैसेट्स का भजना पे नाचे सारी रात x2
श्यामधनी की हुई आरती उगया प्रभात
कालू की कालू योगी की बाबा से आज पटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी
गोरी खाटू का मेला के माही डटगी
श्याम बाबा का चरना में रात कटगी

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||