Home Bhajan रूणिचा जाउली | Mahak Meer | Lyrics

रूणिचा जाउली | Mahak Meer | Lyrics

सज्जन सिंह गहलोत द्वारा निर्देशित राजस्थानी भजन रूणिचा जाउली पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। लेटेस्ट सांग 2018 में आवाज महक मीर ने दी हैं। सॉन्ग का म्यूजिक मिस्टर रेमो ने कंपोज किया हैं व गीत के बोल एन.आर ब्रदर्स ने तैयार किये हैं।

गौरी सोलह शृंगार करके रूणिचा बाबा के दरबार जा रही हैं और अपने हाथो में देशी घी का बना हुआ चूरमा बाबा के लिए लेकर जा रही हैं। रूणिचा में जाकर गौरी बाबा के दर्शन कर रही हैं और अपने पिया के साथ बाबा के चरणों में शीश निवा रही हैं। जग में बाबा रामदेव की महिमा निराली हैं और देवो से बाबा की लीला न्यारी हैं।

Runicha Jaauli Song Lyrics

मैं तो करली बाबा तैयारी ओ रूणिचा जाउली
अरे देशी घी को चूरमो बाबे ने जिमाउली

गड जोड़ा सु चाला घणी राजी हो जावेला
हाथ सु मल्यो चूरमो आस पुगावेला
मै रुणिचे रे सांवरिया रा दर्शन पाउली
अरे देशी घी को चूरमो बाबे ने जिमाउली

Advertisement

अजमल जी रो लाल ध्वजा बंधधारी हैं
सब देवा सु लीला न्यारी परचा भारी
थे मानो या ना मानो मैं रूणिचा जाऊली
अरे देशी घी को चूरमो बाबे ने जिमाउली

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता अपनाओ |
देश को विकास के पथ पर लाओ ||