Home Bhajan श्री चारभुजा सुख सांवरिया | Dharmendra Charbhuja | Lyrics

श्री चारभुजा सुख सांवरिया | Dharmendra Charbhuja | Lyrics

‘गढ़बोर नाम पुजवाय रिया’ राजस्थानी एल्बम का गाना धर्मेन्द्र चारभुजा ने गाया हैं | श्री चारभुजा सुख सांवरिया इस गीत में म्यूज़िक कंपोजिंग लक्ष्मीकांत व्यास ने की हैं | बाबा एन.आर.जी म्यूज़िक की ओर से प्रस्तुत भजन का वीडियो काफ़ी मंगलमय हैं | इस गाने के निर्देशक नीलेश वैष्णव हैं ।

Song: Shri Charbhuja Sukh Savariya
Album: Gadbore Naam Pujwaay Riya
Singer: Dharmendra Charbhuja
Music: Laxmikant Vyas
Director: Nilesh Vaishnav
Music Label: Baba NRG Music & Films Studio

Click to watch Shri Charbhuja Sukh Savariya Marwadi song from album Gadbore Naam Pujwaay Riya NOW in full HD.

Advertisement

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

Shri Charbhuja Sukh Savariya Song Lyrics

श्री चारभुजा सुख साँवरिया थारी याद घनी म्हाने आवे हैं
थारे चरणे कमलमय जो नर आवे खाली हाथ नही जावे हैं

धनश्याम मुरारी पास हैं खेड़ो थारी सावली सूरत प्यारी हैं
काना में कुंडल शीश मुकुट हीरा री सोवा न्यारी हैं
मांडक मोतिया रा हार घना कोमल काँटा में सोवे हैं
मंदिर तो मुँह जगमग यू हसतो देखी तने यो तन मंन खोवे हैं
मनमोहक मीठो चोकरो प्रसाद म्हाने घनो भावे हैं
थारे चरणे कमलमय जो नर आवे खाली हाथ नही जावे हैं

नकषज होवे हैं नर नारी सू यो मंदिर भरजावे हैं खचा खच यो
सब दुखड़ो सुनावे हैं हाथ हैं जोड़े
जगमग दिवला री ज्योति सू या आरती सुंदर सजे हैं
मगाड नगाड़ा बाजे हैं जाने इंद्रगढ गाजे हैं
पुजारी और पंडा सेवा करे मिश्री रो भोग लगावे हैं
थारे चरणे कमलमय जो नर आवे खाली हाथ नही जावे हैं

फागा में घरे रमे ज़गरो तन डंडा सू डंडा टकरावे हैं
या देख अजाल लीला तरी जान जान मान मान टकरावे
गुलाल गगन माही उड़ रही थे मुखड़ा लाल हे मनोहर
ठाकुर जी झूलो झूले हैं सोना री रेवड़ी सुंदर
थारे चरणे कमलमय जो नर आवे खाली हाथ नही जावे हैं

राजस्थानी भजन हो या हो एल्बम के गाने, Marwadisong.in लेकर आए है राजस्थानी एंटरटेनमेंट का मजेदार मसाला |

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना |
स्वच्छता को होगा अपनाना ||