Home Folk थारी गुर्जरी रुसी | Parbhu Madariya | Lyrics

थारी गुर्जरी रुसी | Parbhu Madariya | Lyrics

प्रभु मन्दारिया की आवाज में थारी गुर्जरी रुसी सॉन्ग देव जी का राजस्थानी भजन हैं। इस गीत का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कंपोज किया हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग चेतक कैसेट्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं।

गौरी अपने भरतार के साथ देव जी के मंदिर में जाना चाहती हैं और लेकिन खेत में अधिक काम होने पिया उसकी बातो को अन सुना कर रहा हैं। इस बात से गौरी अपने पिया से नाराज हो रही हैं और काफी दिनों से वो देव जी के जाने की सोच रखी थी। अब उसकी सारी इच्छा मन के अंदर ही रहेगी हैं लेकिन पिया अपनी गौरी को मानते हुए उसे देव जी दर्शन करवाने ले जा रहा हैं।

Thari Gurjari Rusi Song Lyrics

दिलदार गुर्जर ने कीजे नही दिल सांचो तेरो दिल टूट्यो रे
थारी लाल गुर्जर बाटा नहाली देमाल्या री मन में राखी
गुर्जर की थारी रूसी

अरे गुज़री कन रूसी अरे कालू जी गुर्जर ने कीजे रे
मैं तो गाड़ी री नूती आई रे म्हाने पैदल देमाल्या खंधाई
म्हारे गाड़ी री मन में रे थारी लाल गुर्जर घनी रूसी

Advertisement

अरे गुज़री आबे बैठलो
अरे आसिंद शहर को उबो रेओह चेतन म्हारे सामी नहाले रे
डॉलर की मन में राखी रे थारी लाल गुर्जर घनी रूसी

अरे गुज़री अब झुमलो
अरे उँची रे उँची डॉलर में मैं बाटा किंसू करसू रे
म्हारो गुर्जर धनी बेईमान रे मैने भेजी अकेली मेला में

अरे गुज़री ले ढोल पे नाचले ढोल पे ढोल पे
अरे राजू गुर्जर ने किजो रे मैं तो डीजे री नूती आई रे
म्हाने ढोल रे डमकी नचाई रे थारी लाल गुर्जर घनी रूसी

अन्य राजस्थानी गाने :

भारत सरकार का इरादा |
सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा ||