Home Bhajan बागा की कोयल काली | Ramsingh Gurjar | Lyrics

बागा की कोयल काली | Ramsingh Gurjar | Lyrics

बाबूलाल सैनी द्वारा निर्देशित राजस्थानी सॉन्ग बागा की कोयल काली अल्फ़ा म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। लेटेस्ट सांग 2018 में आवाज रामसिंह गुर्जर ने दी हैं। इस गीत के निर्माता गोपाल सैनी हैं।

सावन का महीना आने पर चारो तरफ बारिश हो रही हैं और धरती में हरियाली छा रही हैं ऐसा लग रहा मानो जैसे किसी ने धरती को हरे रंग की चादर ओढ़ा दी हो। शिव भक्त कांवड़ लेकर भोलेनाथ के द्वार जा रहे हैं और भोलेनाथ के दर्शन पा रहे हैं। शिव के जटो में गंगा माता बिराजमान हैं।

Baga Ki Koyal Kali Song Lyrics

सावन में बेगी आज्ये बागा की कोयल काली
बागा की कोयल काली तेरी सूरत छै नखराली
सावन में बेगी आजे ये बागा की कोयल काली

मैं तो हर हर में जाऊ मैं कांवड़ लेकर आउ
भोला का दर्शन पाज्ये ये बागा की कोयल काली
सावन में बेगी आज्ये बागा की कोयल काली

Advertisement

ऐ जटा में जंग बिराजे जिको डम डम डमरू बाजे
तू ठेट बलेश्वर जाज्ये ये बागा की कोयल काली
सावन में बेगी आज्ये बागा की कोयल काली

पिता भांग रे धतूरा रहवे गौरा पार्वती का साजा
जाकर इंद्र ने बरसाजे ये बागा की कोयल काली
सावन में बेगी आज्ये बागा की कोयल काली

रावत रामसिंह तो गावे नांगल सौडो गांव बतावे
ऐ अल्फ़ा में गीत सुनाज्ये बागा की कोयल काली
सावन में बेगी आज्ये बागा की कोयल काली

अन्य राजस्थानी गाने :

भारत सरकार का इरादा |
सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा ||