Home Folk बाजरे की रोटी | Mitali Arora | Lyrics

बाजरे की रोटी | Mitali Arora | Lyrics

मिताली अरोड़ा की आवाज में बाजरे की रोटी सॉन्ग श्री कृष्णा का राजस्थानी भजन हैं। इस गीत का म्यूजिक रेमो ने कंपोज किया व निर्देशक सज्जन सिंह गहलोत हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं। एल्बम गीत के निर्माता सज्जन सिंह गहलोत हैं।

भक्त श्री कृष्णा के दरबार में चूरमा प्रसाद का भोग लगा रहा हैं और बाबा से अपनी दुःख पीड़ा दुर करने की अर्जी कर रही हैं।श्री कृष्ण की महिमा अपरंपार और चारो दिशा में बाबा की महिमा के चर्चे हैं। बाबा अपने भक्तो के सैदव करीब रहते हैं और संकट आने पर भक्तो के काज सफल करते हैं।

Bajare Ki Roti Song Lyrics

बाज़रे की रोटी खले श्याम के चुरमा ने भूल जावेलो
के चुरमा ने भूल जावेलो
बाज़रे की रोटी खाले श्याम के चुरमा ने भूल जावेलो

जाटणी के हाथ की बनी हे कमाल की
सागे ल्यायो हांड़ी बाबा कड़िया रे दाल की
गुड मीठो ओ हो गुड मीठो मेरो श्याम
के चुरमा ने भूल जावेलो
बाज़रे की रोटी खाले श्याम के चुरमा ने भूल जावेलो

Advertisement

बाज़रो तो एसो बाबो पालो कोनी लागे
10-20 ख़ायक़े तू दौडयो-दौडयो भागे
घोड़ा में आवेली तेरे जान के चुरमा ने भूल जावेलो
बाज़रे की रोटी खाले श्याम के चुरमा ने भूल जावेलो

बाज़रे की रोटी सागे छाछ का सबडका
ख़ाके के तू मारेलो मूँछ का रगडका
लॉट के करेलो गुण-गान के चुरमा ने भूल जावेलो

बाज़रे की रोटी खले श्याम के चुरमा ने भूल जावेलो
के चुरमा ने भूल जावेलो
बाज़रे की रोटी खाले श्याम के चुरमा ने भूल जावेलो

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||