Home Folk ब्यान जी की मस्ती | Durga Jasraj | Lyrics

ब्यान जी की मस्ती | Durga Jasraj | Lyrics

चिंटू प्रजापत, रीटा शर्मा और प्रेम अभिनीत गीत ब्यान जी की मस्ती में आवाज दुर्गा जसराज ने दी। गीत का म्यूजिक मेवाड़ी ब्रदर्स ने कम्पोज किया हैं। किशोर-सुमन फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत गीत के निर्माता सुमन सीरवी हैं। किशोर सीरवी द्वारा निर्देशित गीत के बोल लखन चौधरी ने लिखे हैं।

फागण के महीने में सगा जी अपनी ब्यान के घर जा रहा हैं और जोड़े से दोनों मिलकर खाना खा रहे हैं। भोला भाला ब्याई ब्यान की हर बात मान रहा हैं और उससे वो अपने घर का काम करावा रही हैं। ब्यान अपने रंग रसिया ब्याई के लिए नयी पेन्ट सिलवा रही हैं और चमेली का तेल लेकर उसके सिर की मालिश कर रही हैं। ब्यान रंग रसिया ब्याई की सारी इच्छा पूरी कर रही हैं।

Byan Ji ki Masti Song Lyrics

अरे फागण महीनो आयो सगा जी
अरे जोड़े मिल जीमा रे अरे ब्याई म्हारा
अरे थाल परसु ने ल्याउ सगा जी
खा लीजो भीमा रे अरे ब्याई म्हारा

अरे थे तो सगा जी भोला ठाला
म्हारो कहयो मानो रे अरे ब्याई म्हारा
अरे म्हारे घर रो काम करो थे
भैंस्या रा पोटा नाखो रे अरे ब्याई म्हारा

Advertisement

अरे म्हारी सगी ने काई मत कहिजो
मन री मन में राखो रे अरे ब्याई म्हारा
अरे घना लाड मैं थारा लडाऊ
यु मत बांको फाड़ो रे अरे ब्याई म्हारा

अरे धोती छोडो थारे पेन्ट सिलाऊ
पाछे थे हीरो लागो रे अरे ब्याई म्हारा
अरे पंगा में थारे बूट मँगाउ
आगा पगिया बारो रे अरे ब्याई म्हारा

अरे चमेली रो तेल मँगाउ
जुआ माथा से झाड़ो रे अरे ब्याई म्हारा
अरे पूरी ऐश कराउ थाने
म्हारा कुत्ता ने पालो रे अरे ब्याई म्हारा

अन्य राजस्थानी गाने :

स्वच्छता का रखिए ध्यान |
स्वच्छता से देश बनेगा महान ||